अमृतसर रेल हादसे में नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी को क्लीन चिट

  • Updated on 12/6/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दशहरे के दिन रावण दहन के वक्त अमृतसर में हुए भयानक रेल हादसे ने कई घरों के चिराग बुझा दिए थे। इस दुर्घटना में करीब 60 लोगों की मौत हुई थी, साथ ही सैकड़ों लोग घायल हुए थे। इसमें कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी को इसके लिए जिम्मेदार माना जा रहा था। हालाकिं कोर्ट से इन दोनों को क्लीन चिट मिल गई है। 

दरअसल जब रेल हादसा हुआ तो नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सभा को संबोधित कर रही थी। मैदान खचाखच भरा हुआ था जिसके चलते लोग बाहर रेल की पटरी पर भी खड़े होने लगे थे। उसी दौरान एक रेलगाड़ी आती है और लोगों को कुचल कर चली जाती है। जिसके चलते उनपर सवाल उठाए गए थे।

अगस्ता वेस्टलैंड केस : मिशेल के वकील जोसेफ पर कांग्रेस ने की कार्रवाई

बताया जा रहा है कि जिस वक्त यह हादसा हुआ था वहां नवजोत कौर सिद्धू बतौर मुख्य अतिथि बोल रही थीं। जिसके बाद उनके उपर आरोप लगने लगे और सियासत गर्मा गई। मतृकों में में बिहार के प्रवासी भी शामिल थे। कांग्रेस पार्टी के कई नेता सिद्धू के बचाव में उतरने लगे। उन्होंने इस धटना के लिए रेलवे को जिम्मेदार ठहराया। कांग्रेस सांसद सुनील जाखड़ और पंजाब के मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने कहा है कि उनकी गलती नहीं थी और उन्होंने इस घटना के लिए रेलवे गेटमैन को दोषी ठहराया।

बुलंदरशहर हिंसा में बजरंग दल ने की आरोपी योगेश से समर्पण की अपील

गौरतलब है कि बिहार के मुजफ्फरपुर की एक अदालत में नवजोत कौर सिद्धू के खिलाफ परिवाद पत्र दायर कर उनके खिलाफ मामला दायर करने की मांग की गई थी। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में एक सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी की ओर से परिवाद पत्र दायर किया गया। जिसके बाद अदालत ने सुनवाई के लिए तीन नवंबर की तारीख तय की थी।

यौन उत्पीड़न के आरोप झेल रहे मंत्री एमजे अकबर को कांग्रेस ने लिया आड़े हाथ

इसके बाद अब दोनों को ही क्लीन चिट दे दी गई है। रेलवे मैन्युअल के अनुसार सेक्शन 147 में ऐसे लोगों के खिलाफ रेलवे एक हजार रुपए का जुर्माना अथवा तीन माह की सजा अथवा दोनों जुर्माना व जेल भेजने का प्रावधान है। बता दें कि अमृतसर रेल हादसे के दिन ही रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा एवं रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने ड्राइवर सहित सभी संरक्षा कर्मियों को क्लिन चिट दे दी थी।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.