Monday, Aug 08, 2022
-->
amu constitutes 15 member high level committee corona vaccination audit begins rkdsnt

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने 15 सदस्यीय हाई लेवल कमेटी का किया गठन, टीकाकरण का ऑडिट शुरू

  • Updated on 5/20/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बड़ी संख्या में अपने शिक्षकों तथा शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की कोविड-19 से हुई मृत्यु से बेजार अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) प्रशासन ने अपने कर्मियों के टीकाकरण का ऑडिट शुरू किया है। इसका मकसद यह पता लगाना है कि टीका लगवाने से परहेज करना इन मौतों के लिए किस हद तक जिम्मेदार है। 

कांग्रेस ने कहा- इमेज की चिंता छोड़ टीका मुहैया कराने पर गौर करे मोदी सरकार

एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने विश्वविद्यालय बिरादरी को लिखे एक खुले पत्र में कहा कि इस बात के मजबूत सुबूत हैं कि कर्मियों द्वारा कोविड-19 का टीका लगवाने से परहेज करने की वजह से इतनी बड़ी संख्या में शिक्षकों तथा शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की इस वायरस से मौत हो गई। 

‘ब्लैंक फंगस’ के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाओं पर हाई कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

पिछले हफ्ते एएमयू के दौरे पर पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस तरफ इशारा किया था।  कुलपति ने पत्र में कहा कि विश्वविद्यालय परिसर में इस वक्त दो टीकाकरण केंद्र हैं और विश्वविद्यालय समुदाय से अपील है कि वह सभी शक-शुबहे छोड़कर टीका लगवाए ताकि अब आगे कोई और जनहनि ना हो। 

विदेश मंत्री जयशंकर ने कोरोना संकट में अंतरराष्ट्रीय सहयोग पर दिया जोर

गौरतलब है कि पिछले एक महीने के दौरान एएमयू के 19 शिक्षकों तथा बड़ी संख्या में सेवानिवृत्त शिक्षकों की कोविड-19 या उससे मिलते जुलते लक्षणों के कारण मौत हो गई है। कुलपति ने कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर इससे निपटने की तैयारियों के लिए 15 सदस्यीय उच्चस्तरीय समिति गठित की है, जो परिसर में तीसरी लहर के मद्देनजर जरूरी संसाधनों तथा चिकित्सीय सुविधाओं की उपलब्धता की कार्य योजना तैयार करेगी। 

यूपी में कोरोना वायरस संक्रमण से 282 की मौत, अलीगढ़ में ब्लैक फंगस की दस्तक

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.