Thursday, Jan 27, 2022
-->
amu hold candlelight protest against jnuviolence and university to open today 6th jan

#JNUViolence को लेकर AMU में निकाला गया विरोध मार्च, आज खुलनी थी यूनिवर्सिटी

  • Updated on 1/6/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में रविवार शाम को छात्रों के दो गुटों के बीच हुई भिड़ंत और हिंसा से पूरा देश हैरान है। वहीं इसके खिलाफ मुंबई (Mumbai) और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) समेत कई जगहों पर प्रदर्शन हो रहा है। हिंसा की खबरों के बाद रविवार रात को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में छात्रों ने इसका विरोध किया। बता दें कि सीएए (CAA) के विरोध के बाद 6 जनवरी यानी आज से अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय खुलने वाला था।

JNU में हिंसा के बाद स्टूडेंट यूनियन को मिला देश भर के छात्रों का साथ, कई शहरों में प्रदर्शन

AMU में निकाला विरोध मार्च
एएमयू (Aligarh Muslim University) में प्रदर्शनकारी छात्रों के प्रवक्ता ने बताया कि जेएनयू में नकाबपोश हथियारबंद बदमाशों द्वारा छात्रों के साथ मारपीट किए जाने की घटना में पीड़ित छात्रों के साथ सहानुभूति जताने के लिए एएमयू में विरोध मार्च किया गया। इस बीच, एएमयू टीचर्स एसोसिएशन ने जेएनयू में हुई हिंसा की कड़ी निंदा की। एसोसिएशन के सचिव नजमुल इस्लाम ने एक बयान जारी कर देश के प्रधान न्यायाधीश से जेएनयू में रविवार को छात्रों पर हुए हमले के बाद बनी अप्रत्याशित स्थिति का स्वत: संज्ञान लेने का अनुरोध किया।    

JNU हिंसा की राजनीतिक जगत ने की जमकर आलोचना, मायावती ने बताया 'शर्मनाक'

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया कि एएमयू परिसर के चारों तरफ संवेदनशील स्थानों पर एहतियातन पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। इधर, एएमयू स्टूडेंट्स यूनियन के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों के प्रति एकजुटता दर्शाने के लिए सोमवार को एएमयू परिसर में शांतिपूर्वक तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी।    

जामिया से AMU पहुंची CAA की आग, DGP घायल, 5 जनवरी तक विवि बंद 

JNUSU के समर्थन में आई कई यूनिवर्सिटी
जेएनयू हिंसा के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ यूनिवर्सिटी समेत कई विश्वविद्यालयों के छात्र दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन करने पहुंचे। वहीं इसके खिलाफ कई यूनिवर्सिटी के छात्र और अध्यापक जेएनयू छात्र संघ के समर्थन में आ गए हैं। आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) के छात्रों ने यूनिवर्सिटी परिसर में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर इस हिंसका घटना का कड़ा विरोध जताया। 

6 जनवरी से खुलेगी एएमयू, कुलपति ने छात्रों से की शांति बरतने की अपील

6 जनवरी से खुलने वाला था AMU
गौरतलब है कि सीएए के विरोध के बाद 6 जनवरी यानी आज अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय खुलने वाला था। इसको लेकर कुलपति ने छात्रों से आग्रह किया था कि वे लोग एएमयू प्रशासन और खुद के बीच की खाई पाटने में मदद करें। कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने छात्रों के नाम लिखे पत्र में उन्हें भरोसा दिलाया था कि वह किसी भी समस्या को लेकर अपनी चिंता उनसे पूरी तरह साझा करें, बशर्ते वह शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक ढंग से उठायी जाए।

केरल के सीएम ने की #JNUViolence की निंदा, RSS को दी ये सलाह

जामिया के समर्थन में AMU छात्रों ने किया था प्रदर्शन
मालूम हो कि इससे पहले गत 15 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (Jamia Millia Islamia university) में छात्रों पर हुई पुलिस कार्रवाई से नाराज एएमयू के छात्रों ने हंगामा किया था। इस दौरान पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स की कार्रवाई में बड़ी संख्या में छात्र जख्मी हो गये थे।   कुलपति ने बाद में कहा था कि उन्हें पता चला था विश्वविद्यालय परिसर में कुछ बाहरी तत्वों ने माहौल खराब करने की कोशिश की है। हालात को देखते हुए उन्होंने पुलिस बुलायी थी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.