Monday, Nov 28, 2022
-->
anil-chauhan-retd-appointed-as-new-cds-post-was-vacant-after-general-rawat-death

अनिल चौहान (सेवानिवृत्त) नए सीडीएस नियुक्त, जनरल रावत के निधन के बाद से पद रिक्त था

  • Updated on 9/28/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान (सेवानिवृत्त) को बुधवार को देश के नए प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) के रूप में नियुक्त किया गया। जनरल बिपिन रावत की मृत्यु के बाद यह पद रिक्त था। पद रिक्त होने के नौ महीने से अधिक समय बाद इस पर नियुक्ति की गई है। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर पूर्वी सेना के पूर्व कमांडर एवं सैन्य अभियान के पूर्व महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल चौहान की नियुक्ति की घोषणा की।   

72 वर्षीय आर. वेंकटरमणी देश के नए एटार्नी जनरल नियुक्त, वेणुगोपाल का लेंगे स्थान 

  मंत्रालय ने कहा कि 61 वर्षीय चौहान उनके कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से सैन्य मामलों से जुड़े विभाग के सचिव के रूप में भी कार्य करेंगे।  लगभग 40 वर्षों से अधिक के अपने करियर में, लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ने कई कमान, स्टॉफ और महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है तथा उन्हें जम्मू कश्मीर और पूर्वोत्तर भारत में आतंकवाद विरोधी अभियानों का व्यापक अनुभव हैं। लेफ्टिनेंट जनरल चौहान पिछले साल मई में सेवानिवृत्त हुए थे। उस समय वह पूर्वी सेना कमांडर के रूप में कार्यरत थे।  

भाजपा को सिर्फ सपा ही हरा सकती है : अखिलेश यादव 

  •  

    रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘सरकार ने लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान (सेवानिवृत्त) को अगले सीडीएस के रूप में नियुक्त करने का निर्णय लिया है, जो भारत सरकार, सैन्य मामलों के विभाग के सचिव के रूप में भी कार्यभार ग्रहण करने की तारीख से और अगले आदेश तक कार्य करेंगे।’’  लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान का जन्म 18 मई 1961 को हुआ और उन्हें 1981 में भारतीय सेना की 11 गोरखा राइफल्स में कमीशन प्रदान किया गया था। वह राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला और भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून के पूर्व छात्र हैं। मेजर जनरल के रैंक में उन्होंने उत्तरी कमान में महत्वपूर्ण बारामुला सेक्टर में एक इन्फैंट्री डिवीजन की कमान संभाली थी। बाद में लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में, उन्होंने पूर्वोत्तर में एक कोर की कमान संभाली और सितंबर 2019 से पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ बने तथा मई 2021 में सेवानिवृत्ति तक यह पदभार संभाला।     

NSE मामला: हाई कोर्ट ने चित्रा रामकृष्ण, आनंद सुब्रमण्यन को दी जमानत

इन कमान नियुक्तियों के अलावा वह महानिदेशक, सैन्य अभियान के प्रभार समेत महत्वपूर्ण पदों पर भी रहे। इससे पहले उन्होंने अंगोला में संयुक्त राष्ट्र मिशन के रूप में भी काम किया। सेवानिवृत्त होने के बाद भी, उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा एवं रणनीतिक मामलों में योगदान देना जारी रखा। सेना में विशिष्ट और उल्लेखनीय सेवा के लिए लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान (सेवानिवृत्त) को परम विशिष्ट सेवा पदक, उत्तम युद्ध सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक, सेना पदक और विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया जा चुका है। पिछले साल आठ दिसंबर को एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में जनरल रावत के निधन के बाद से सीडीएस का पद रिक्त था।    


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.