Wednesday, Apr 14, 2021
-->
anil rajbhar on mukhtar ansari return making fun of the law done in up pragnt

मुख्तार के आने पर UP के मंत्री का तंज- योगी जी की सरकार है, जिसने जो किया वो भरेगा

  • Updated on 4/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। करीब दो साल पंजाब (Punjab) की जेल में बिताने के बाद बहुजन समाज पार्टी (BSP) के विधायक और गैंगस्टर मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को उत्तर प्रदेश पुलिस ने बुधवार तड़के कड़ी सुरक्षा के बीच बुंदेलखंड की बांदा जेल में शिफ्ट किया गया। मुख्तार अंसारी को बांदा जेल लाए जाने पर योगी सरकार के मंत्रियों के बयान सामने आए हैं।

मुख्तार अंसारी पंजाब जेल से यूपी पुलिस के हवाले, तीन बार बदला रूट

अंसारी को बांदा जेल में लाए जाने पर बोले योगी सरकार के मंत्री
उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर (Anil Rajbhar) ने कहा, 'जो लोग कानून से मजाक करते थे, उनकी उत्तर प्रदेश में वापसी हो चुकी है। जिसने जो किया है वो भरेगा। ये योगी जी की सरकार है। पिछले दिनों सपा की सरकार में लोग जेल में फाइव स्टार होटल की सुविधा लेते थे।' वहीं मुख्तार अंसारी के परिवार को उनसे न मिलने दिए जाने पर अनिल राजभर ने कहा कि उनकी सुरक्षा और उनको कोरोना न हो इसका भी ख्याल रखा जा रहा है। जेल प्रशासन ने भी प्रोटोकॉल जारी किया है, उसका भी पालन कर रहे हैं। सरकार और न्यायालय के प्रोटोकॉल का भी पालन किया जा रहा है।

इसके अलावा यूपी के जेल मंत्री जय कुमार सिंह (Jai Kumar Singh) ने कहा कि जब से योगी आदित्यनाथ सरकार आई है गुंडे, माफिया और अपराधी भयभीत हैं। उनको लगता है कि UP हमारे लिए सुरक्षित नहीं है। अपराधियों में खौफ होना जरूरी है। सरकार भयमुक्त समाज की स्थापना के संकल्प के साथ आई थी।

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने बॉम्बे हाई कोर्ट के स्थायी जजों के तौर पर 10 नामों को दी मंजूरी

मुख्य गेट पर तैनात मीडिया कर्मचारियों को दिया चकमा
आज प्रात: 4 बजे के करीब यू.पी. पुलिस का लगभग 100 से अधिक जवानों का काफिला लगभग 900 कि.मी. का सफर तय करते हुए बांदा से पुलिस लाइन पहुंच गया था। एस.एस.पी. डा. अखिल चौधरी के निर्देशों पर जेल के बाहर कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे।

इस अवसर पर रूपनगर पुलिस के डी.एस.पी. तलविंदर सिंह गिल, थाना सिटी के एस.एच.ओ. राजीव चौधरी, एस.एच.ओ. सदर कुलबीर सिंह के अतिरिक्त सी.आई.ए. के इंचार्ज अमरवीर सिंह गिल भी मौजूद थे। मुख्य गेट पर तैनात मीडिया कर्मचारियों को चकमा देते हुए मुख्तार अंसारी को जेल की रिहायशी कालोनी के गेट से बाहर निकाला गया तथा उस समय कवरेज करने के लिए मीडिया कर्मियों में भगदड़ मच गई।

यू.पी. पुलिस हरियाणा होते हुए उत्तर प्रदेश की सीमा में दाखिल हुई। मुख्तार को लेकर जा रहा पुलिस का काफिला गाजियाबाद की सीमा में प्रवेश कर मसूरी क्षेत्र से होते हुए बांदा के लिए निकल गया। वहीं मुख्तार अंसारी के सांसद भाई अफजाल अंसारी ने बड़े षड्यंत्र की आशंका जताई है। 

विधानसभा चुनाव: यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ आज बंगाल में चुनावी रैली को करेंगे संबोधित

मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी ने पति की जान की सुरक्षा
अफजाल अंसारी ने कहा कि उनको कानून-व्यवस्था पर तो पूरा भरोसा है, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार की नीयत में खोट है। अंसारी के पहुंचने से पहले बांदा जिला जेल में कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने अपने एक आदेश में पंजाब सरकार को अंसारी को 2 सप्ताह के भीतर रूपनगर जेल से उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में भेजने का निर्देश दिया था।  

मुख्तार अंसारी पर यू.पी. में लगभग 52 मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या, डकैती, फिरौती जैसे खूंखार मामले शामिल हैं। यू.पी. पुलिस को उक्त मामलों के लिए मुख्तार अंसारी वांछित था। वहीं मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी ने पति की जान की सुरक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। अफशां ने अपनी याचिका में सरकारी अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए दिशा-निर्देश देने की मांग की है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.