Thursday, Oct 28, 2021
-->
anna hazare postponed fasts against agricultural laws after modi bjp govt rkdsnt

अन्ना हजारे ने मोदी सरकार के भरोसे के बाद कृषि कानूनों के खिलाफ टाला अनशन

  • Updated on 1/29/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे (Anna Hazare) ने आज घोषणा की थी कि वह केंद्र की मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ शनिवार को महाराष्ट्र में अपने गांव रालेगांव सिद्धि में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करेंगे। लेकिन, अब उन्होंने अपने इस अनशन को टाल दिया है। यह फैसला उन्होंने सरकार के भरोसे के बाद टाला है। बता दें कि भाजपा नेता देवेंद्र फडण्वीस (devendra fadnavis) ने आज उनसे मुलाकात की थी। 

राहुल ने मोदी सरकार को चेताया, बोले- आगे गांवों से शहरों तक फैलेगा किसान आंदोलन

इससे पहले अन्ना ने जारी एक बयान में कहा था, 'मैं कृषि क्षेत्र में सुधारों की मांग करता रहा हूं, लेकिन केंद्र सही फैसले लेते नहीं दिख रहा है।’’ हजारे ने कहा था, ‘‘किसानों को लेकर केंद्र कतई संवेदनशील नहीं है, इसीलिए मैं 30 जनवरी से अपने गांव में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू कर रहा हूं।’’ 

मोदी सरकार से नाराज केजरीवाल का टिकैत को समर्थन, बोले- किसानों की मांगें वाजिब

हजारे (83) ने अपने समर्थकों से अपील भी की थी कि वे कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए अहमदनगर जिले में स्थित उनके गांव में एकत्र नहीं हों।’’ उल्लेखनीय है कि केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन अब उन्होंने अपने फैसले को बदलते हुए अनशन टाल दिया है। 

दिल्ली दंगे: कोर्ट ने खारिज की UAPA मामले में देवांगना कलीता की जमानत याचिका

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

 

comments

.
.
.
.
.