Sunday, Nov 28, 2021
-->
anupam kher bollywood actor gave instructions related to indian tradition regarding corona virus

अनुपम खेर ने CoronaVirus को लेकर भारतीय परंपरा से जुड़ी खास हिदायत

  • Updated on 3/3/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस ने अब भारत में भी दहशत पैदा कर दी है। दिल्ली में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज मिलने से सरकार भी अलर्ट हो गई है। भयंकर वायरस को लेकर तरह-तरह की एडवाइजरी जारी की जा रही है। सोशल मीडिया पर लोगों को इस बारे में जागरूक किया जा रहा है। इस सिललिले में बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर ने अपनी राय जाहिर की है। 

कोरोना वायरस को लेकर यात्रा के दौरान बरतें ये खास सावधानियां

उन्होंने कोरोना वायरस से निपटने का भारतीय तरीका बताया है। खेर ने कोरोना वायरस पर चिंता जाहिर करते हुए लोगों को सावधानी बरतने की हिदायत देते एक वीडियो भी शेयर किया है। इस वीडियो में अनुपम बता रहे हैं कि कोरोना वायरस से किस तरह से बचा जा सकता है। अभिनेता के मुताबिक लोगों को हाथ मिलाने की बजाए भारतीय परंपरा का अनुसरण करते हुए हाथ जो़ड़कर नमस्ते करना सही रहेगा। बता दें कि कोरोना वायरस संपर्क करने यानि छूने मात्र से भी फैलता है। 

कन्हैया राजद्रोह मामले को लेकर #BJP ने फिर किया केजरीवाल पर हमला

अनुपम खेर के ट्वीट के मुताबिक, 'मुझे कई लोग बता रहे हैं कि इंफेक्शन से बचने के लिए हाथ धोता रहूं। मैं ये तो करता ही हूं, लेकिन मुझे लगता है कि हमें प्राचीन भारतीय परपंराओं का पालन करते हुए लोगों को नमस्ते कहना चाहिए। इस तरीके से आप संक्रमित होने से भी बच जाएंगे। यह बहुत ही हाइजेनिक, फ्रेंडली और एनर्जी से भरा है। इसे जरूर आजमाएं।'

दिल्ली दंगों में इस्तेमाल हुए युद्धक गुलेल समेत ऐसे-ऐसे हथियार

दरअसल, कोरोना वायरस ने चीन में ही 3000 के करीब लोगों की जान ले ली है। अमेरिका में ही 6 लोग मारे जा चुके हैं। कोरिया और ईरान भी इसे अछूता नहीं रहा है। भारत में इस घातक वायरस ने केरल के बाद दिल्ली में भी दस्तक दे दी है। बता दें कि कोरोना वायरस की दस्तक के बाद देश के सभी एयरपोर्ट पर सतर्कता बरती जा रही है।

शिवसेना ने पूछा- जब दिल्ली हिंसा में जल रही थी तो अमित शाह कहां थे?

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.