Tuesday, Jan 25, 2022
-->
aparna who praise pm modi now supported akhilesh yadav in up assembly elections rkdsnt

पीएम मोदी की तारीफ करने वालीं मुलायम की बहू अपर्णा ने अब अखिलेश का दिया जमकर साथ

  • Updated on 12/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा ने पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को समाजवाद का दूसरा नाम करार देते हुए केंद्र सरकार द्वारा तीनों कृषि कानून वापस लिए जाने का श्रेय उन्हें दिया। कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करके सुर्खियों में आई यादव परिवार की छोटी बहू अपर्णा ने अमेठी में आयोजित एक कार्यक्रम में ‘धरतीपुत्र मुलायम सिंह और अखिलेश भैय्या जिन्दाबाद’ का नारा लगाते हुए कहा कि समाजवाद का दूसरा नाम अखिलेश है। 

दिल्ली में ‘ओमीक्रोन’ का पहला केस आने के बाद सत्येंद्र जैन बोले- अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगे बैन 

 

उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार द्वारा तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने का श्रेय सपा अध्यक्ष अखिलेश को जाता है। गौरतलब है कि अपर्णा अक्सर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करती नजर आती हैं। ऐसे में उनका यह ताजा बयान राजनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा सकता है। 

राहुल गांधी का तंज, कहा- रोजगार मांगने वालों को लाठियां देती है यूपी की योगी सरकार 

अपर्णा ने अमेठी से भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘अमेठी को लेकर बड़ी-बड़ी बातें की जाती हैं, मगर अमेठी में विकास तो कहीं नजर नहीं आ रहा है। मैं जिस तरफ से आयी वहां सड़कों पर गड्ढे ही नजर आये। सपा की सरकार बनने पर अमेठी की सड़कें चमकेंगी।’’ 

सपा की सरकार बनते ही उप्र में होगी जातिवार जनगणना : राजभर 

अर्पणा ने कहा कि नेता जी (मुलायम) ने महिलाओं के लिए शौचालय बनवाये, महिलाओं को सबसे पहले रसोई गैस देने का काम किया लेकिन लाभार्थियों के साथ कभी फोटो नहीं खिंचवाई। आज की सरकार फोटो खिंचवाती है। समाजवादी पार्टी ने काम किया है इसलिए जनता एक बार फिर सपा की सरकार बनाए।      नेहरू-गांधी परिवार का गढ़ माने जाने वाले अमेठी में पहली बार आई अर्पणा ने कहा कि डीजल और पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं। अगर दाम कम नहीं हुए तो इस बार जनता साइकिल यात्रा निकालेगी। 

गोवा चुनाव: केजरीवाल ने पंजाब के बाद गोवा की महिलाओं के लिए किए वादे


 

comments

.
.
.
.
.