Wednesday, Oct 20, 2021
-->
army-chief-narwane-and-foreign-secretary-will-visit-myanmar-today-sohsnt

आज म्यांमार दौरे पर जाएंगे सेना प्रमुख नरवणे और विदेश सचिव, द्विपक्षीय संबंधों की करेंगे समीक्षा

  • Updated on 10/4/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद को लेकर भारत (India) और चीन (China) के बीच बढ़ते गतिरोध के बीच सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे (MM Naravane) और विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) रविवार यानी आज दो दिन की म्यामांर यात्रा पर रवाना होंगे जिसमें वे म्यांमार की स्टेट काउंसिलर आंग सान सू ची समेत देश के शीर्ष सैन्य और राजनीतिक पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे।

इमरान बोले- मेरी मर्जी के बिना कोई जनरल कारगिल पर हमला करता तो मैं इस्तीफा मांग लेता

द्विपक्षीय संबंधों पर होगी समीक्षा
विदेश मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक, इस यात्रा से मौजूदा द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा करने और आपसी हित के क्षेत्रों में सहयोग मजबूत करने का अवसर मिलेगा। म्यामां भारत के रणनीतिक पड़ोसी देशों में से एक है जो उग्रवाद प्रभावित नगालैंड और मणिपुर समेत उत्तर पूर्व के कई राज्यों के साथ 1,640 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करता है।

PM ओली ने दिया आदेश, नेपाल में बनेगा अयोध्यापुरी धाम, 40 एकड़ जमीन की आवंटित

म्यांमार की स्टेट काउंसिलर से होगी मुलाकात
दरअसल, जनरल नरवणे और श्रृंगला का दौरा ऐसे समय में महत्वपूर्ण माना जा रहा है जब भारतीय सेना का पूर्वी लद्दाख में चीन की सेना के साथ सीमा पर गतिरोध जारी है। विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, 'उनकी यात्रा में प्रतिनिधिमंडल म्यांमार की स्टेट काउंसिलर आंग सान सू ची और सशस्त्र बलों के प्रमुख कमांडर सीनियर जनरल मिन आंग लैंग से मुलाकात करेगा।' बयान में कहा गया कि भारत अपनी ‘पड़ोसी प्रथम’ और ‘एक्ट ईस्ट’ नीतियों के अनुरूप म्यांमार के साथ अपने संबंधों को उच्च प्राथमिकता देता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.