Thursday, May 06, 2021
-->
arnab-goswami-has-given-12-thousand-dollars-and-40-lakh-rupees-to-former-barc-ceo-prsgnt

TRP से छेड़छाड़ के लिए अर्नब ने मुझे दिए 12 हजार डॉलर और 40 लाख रुपए- पूर्व बार्क सीईओ

  • Updated on 1/25/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रिपब्लिक टीवी के टीआरपी मामले में एक नया मोड़ आ गया है। इस मामले में कथित रूप से पहले ही व्हाट्सएप चैट लीक हो चुकी हैं और अब बार्क इंडिया के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता ने एक बयान देकर रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। 

पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता ने इस मामले में एक लिखित बयान देते हुए यह दावा किया है कि अर्णब गोस्वामी ने उन्हें 12 हजार डॉलर ट्रेवल के लिए और 40 लाख कैश दिए थे। 

संघ और PM पर राहुल गांधी का हमला, कहा- तमिलनाडु का भविष्य तय नहीं कर सकती RSS

दासगुप्ता ने कबूला 
दासगुप्ता ने यह बयान मुंबई पुलिस को दिया है उन्होंने बताया कि अर्णब गोस्वामी ने उन्हें तीन साल के दौरान कुल 40 लाख रुपये दिए। जिसके एवज में उन्हें रिपब्लिक के पक्ष में रेटिंग में छेड़छाड़ करनी थी। यह जानकारी उस सप्लीमेंट्री चार्जशीट से मिली है जो टीआरपी घोटाले मामले में पुलिस द्वारा दायर की गई है।

यह सप्लीमेंट्री चार्जशीट 3600 पन्नों की है जिसे मुंबई पुलिस ने 11 जनवरी को दायर किया था। इसमें बार्क फॉरेंसिक ऑडिट रिपोर्ट भी शामिल थी। इसके अलावा इसमें दासगुप्ता और गोस्वामी के बीच की लीक हुई व्हाट्सएप चैट भी शामिल है। इतना ही नहीं इसमें बार्क के पूर्व कर्मचारी और केबल ऑपरेटर समेत 59 लोगों के बयान भी शामिल हैं।

किसानों का ऐलान, गणतंत्र दिवस पर इन तीन रास्तों से निकलेगी रैली, शांतिपूर्वक होगा आयोजन

क्या है दासगुप्ता के बयान में 
दासगुप्ता ने पुलिस को दिए अपने बयान में लिखा है, "मैं अर्नब गोस्वामी को साल 2004 से जानता हूं। हम टाइम्स नाउ में एक साथ काम किया करते थे। मैंने बार्क के सीईओ के तौर पर 2013 में ज्वॉइन किया था और अर्नब गोस्वामी ने साल 2017 में रिपब्लिक टीवी लॉन्च किया। रिपब्लिक लॉन्च करने से पहले उसने मुझसे कई बार इस योजना को लेकर बात की थी और रेटिंग के लिए हेल्प करने की बात भी कही थी। अर्णब को पता था कि मुझे पता है कि टीआरपी सिस्टम किस तरह से काम करता है?"

अर्नब व्हाट्सएप चैट : रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क ने कांग्रेस पर ‘झूठे प्रचार’का आरोप लगाया 

लंबे समय से चल रहा था ये...
उन्होंने अपने बयान में कहा, "मैं अपनी टीम के साथ मिलकर काम करता था और टीआरपी से काफी छेड़छाड़ करता था। जिससे कि रिपब्लिक टीवी को नंबर एक रेटिंग मिल सके। यह लगभग साल 2017 से 19 तक जारी रहा। इस काम के लिए 2017 में अर्नब गोस्वामी ने मुझे करीब 6000 डॉलर कैश दिए। इसके बाद 2019 में भी अर्नब ने मुझे इतनी ही राशि दी। 2017 में भी अर्नब ने मुझ से मीटिंग की और मुझे 20 लाख रुपये कैश दे दिए। इसके बाद 2018 और 2019 में उन्होंने फिर मुझे 20 लाख रुपये दिए।"

पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.