Wednesday, Sep 18, 2019
article 370 central reserve police force crpf helpline in srinagar kashmiris

कश्मीर के लिए CRPF की ‘मददगार’ हेल्पलाइन फिर से शुरू

  • Updated on 8/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की श्रीनगर स्थित हेल्पलाइन ‘14411’ एक बार फिर लोगों, खासकर कश्मीरियों, के लिए चालू की गई है। यह हेल्पलाइन फिर से शुरू करने का मकसद है कि अनुच्छेद 370 के कुछ प्रावधानों को खत्म करने के केंद्र के फैसले के बाद पैदा हुए हालात के कारण मुश्किलों का सामना कर रहे लोगों और उनके परिवारों की मदद की जा सके। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। 

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल ने किया कश्मीर घाटी का हवाई सर्वेक्षण

उन्होंने बताया कि ‘मददगार’ हेल्पलाइन के पांच अंकों वाले लैंडलाइन नंबर को फिर से चालू कर दिया गया है। कश्मीर घाटी में संचार व्यवस्था पर लगाई गई बंदिशों के कारण इसे बंद कर दिया गया था। एक आधिकारिक ट्वीट में सीआरपीएफ ने कहा, ‘‘14411 फिर से चालू कर दिया गया है: कश्मीरी छात्र और कश्मीर या बाहर रह रहे आम लोग त्वरित सहायता के लिए चौबीसों घंटे नि:शुल्क नंबर 14411 पर सीआरपीएफ मददगार से संपर्क साध सकते हैं।’’ 

सीताराम येचुरी ने कश्मीर और केरल बाढ़ पर अमित शाह पर साधा निशाना

अधिकारियों ने बताया कि कल यानी रविवार देर शाम से अब तक लोगों ने इस हेल्पलाइन नंबर पर 500 से ज्यादा कॉल किए हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फोन करने वाले लोग जम्मू-कश्मीर के हालात के बारे में जानना चाहते हैं, वे अपने परिवारों का कुशल क्षेम जानना चाहते हैं और उनकी अन्य ङ्क्षचताएं भी अपने परिवार से जुड़ी हुई हैं। सीआरपीएफ उनकी हरसंभव मदद कर रहा है।  

कश्मीर में तनाव के बीच पर्यटन से जुड़े कारोबारियों को सता रही है फ्यूचर की चिंता

‘मददगार’ ने पिछले सोमवार को ट्विटर पर एक पोस्ट डालकर कहा था कि लोग किसी मदद या जानकारी के लिए उसके मोबाइल नंबर 9469793260 पर कॉल कर सकते हैं, क्योंकि पांच अंकों वाला नंबर काम नहीं कर रहा। सोमवार को जिस मोबाइल नंबर के बारे में ट््वीट किया गया था उसे लैंडलाइन नंबर पर डायवर्ट कर दिया गया है। सीआरपीएफ ने यह भी कहा कि उसके आधिकारिक ट्विटर हैंडल ‘सीआरपीएफ मददगार’ के जरिए भी मदद मांगी जा सकती है।    सीआरपीएफ ने ‘मददगार’ हेल्पलाइन की शुरुआत जून 2017 में की थी।

ममता बनर्जी ने बेरोजगारी पर मोदी सरकार को घेरा, युवाओं से की अपील

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.