Sunday, Nov 28, 2021
-->
arvind kejriwal aap strongly criticized modi bjp govt among farmers for agricultural laws rkdsnt

केजरीवाल ने किसानों के बीच कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार को जमकर कोसा

  • Updated on 12/28/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने रविवार को आंदोलनरत किसानों के बीच पहुंचे और केंद्र से कृषि कानूनों को लेकर जकमर मोदी सरकार पर भड़ास निकाली। उन्होंने मोदी सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की अपील करते हुए कहा कि किसान जीवित रहने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। नवंबर के आखिरी हफ्ते से सिंघू बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हजारों किसानों से मिलने दूसरी बार पहुंचे केजरीवाल ने कहा, ‘‘ मैं किसी भी केंद्रीय मंत्री को चुनौती देता हूं कि वह किसानों के साथ खुली बहस करें जिससे पता चल जाएगा कि ये कृषि कानून लाभदायक हैं या हानिकारक।’’ 

सौरव गांगुली ने की राज्यपाल धनखड़ से मुलाकात, पश्चिम बंगाल में सियासी अटकलें तेज

केजरीवाल के साथ उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी थे। इससे पहले केजरीवाल सात दिसंबर को दिल्ली-हरियाणा के सिंघू बॉर्डर पर किसानों से मिलने गए थे।  उन्होंने कहा, ‘‘ किसान अपने जीवन के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। ये कानून उनकी भूमि छीन लेगा। मैं हाथ जोड़कर केंद्र से अपील करता हूं कि वह कृपा कर इन तीनों कृषि कानूनों को वापस ले।’’ 

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन New Year 2021 में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में देंगे भाषण

सिसोदिया ने प्रदर्शनकारी किसानों से कहा, ‘‘हम सभी व्यवस्थाओं पर करीब से नजर रख रहे हैं और सुनिश्चित कर रहे हैं कि आपको (किसानों को) कम से कम परेशानी हो।’’ सिंघू बॉर्डर के दौरे में केजरीवाल ने दिल्ली सरकार द्वारा की गई व्यवस्था का भी जायजा लिया।  

नड्डा ने राहुल का पुराना वीडियो जारी किया, कांग्रेस ने पीएम मोदी के पुराने वीडियो पर उठाए सवाल

उल्लेखनीय है कि केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी केंद्र के कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों का मजबूती से समर्थन कर रही हैं। सिंघू बॉर्डर के अलावा किसान जिनमें से अधिकतर पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के हैं, दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं।

मोदी सरकार ने बैंकों को बांड पर दिया 22,807 करोड़ रुपये का ब्याज

 

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.