Friday, Dec 06, 2019
arvind kejriwal school children write letters to punjab haryana amrinder singh ml khattar pollution

केजरीवाल ने स्कूली बच्चों से कहा- वायु प्रदूषण के लिए ‘कैप्टन अंकल, खट्टर अंकल’ को लिखें पत्र

  • Updated on 11/1/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को शहर के स्कूली बच्चों से कहा कि पंजाब और हरियाणा में जल रही पराली के कारण यहां वायु प्रदूषण फैल रहा है और इसके लिए वे दोनों राज्य के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिख कर इसे नियंत्रित करने की अपील करें। केजरीवाल ने प्रदूषण से स्कूली बच्चों को बचाने की सरकार की पहल के तहत छात्रों को मास्क बांटे और उन्हें पराली जलाए जाने के बारे में भी बताया। 

सम-विषम योजना के दौरान दिल्ली सरकार के कार्यालयों के समय में बदलाव

दिल्ली सरकार ने निजी और सरकारी स्कूलों के बच्चों को बांटने के लिए 50 लाख ‘एन95’ मास्क खरीदे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब और हरियाणा में जल रही पराली के कारण दिल्ली में प्रदूषण हो रहा है। उन्होंने बच्चों से कहा, ‘‘कृपया कैप्टन अंकल और खट्टर अंकल को पत्र लिखें और कहें ‘कृपया हमारी सेहत का ध्यान रखे’।’’ उन्होंने खुद भी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से बच्चों की सेहत के बारे में सोचने और पराली जलाने से रोकने के लिए कदम उठाने की अपील भी की। 

पराली जलाने के मामले में पंजाब में 25 फीसदी बढ़ोतरी, हरियाणा में भी हवा जहरीली

मुख्यमंत्री ने बच्चों से राष्ट्रीय राजधानी में कूड़ा जलाने से रोकने में मदद करने की अपील भी की। उन्होंने कहा, ‘‘हमें दिल्ली में कूड़ा जलने से रोकना होगा। अगर आप किसी को ऐसा करते देखें, तो उनसे ऐसा ना करने की अपील करें। अगर वे ना मानें तो फिर उनकी शिकायत करने के लिए एक व्हाट्सएप नंबर है।’’ इसके बाद मुख्यमंत्री ने पंजाब और हरियाणा सरकार पर पराली जलाने को लेकर निशाना साधते ट्वीट किया, ‘‘ खट्टर और कैप्टन सरकारें अपने किसानों को पराली जलाने पर मजबूर कर रहीं हैं जिसकी वजह से दिल्ली में भारी प्रदूषण है। कल पंजाब और हरियाणा भवन पर लोगों ने प्रदर्शन कर वहां की सरकारों के प्रति अपना रोष प्रकट किया था।’’ 

कर्ण सिंह बोले- सेब की ढुलाई करने वालों को सुरक्षा मुहैया कराए मोदी सरकार

गौरतलब है कि आप के वरिष्ठ नेता गोपाल राय के नेतृत्व में पार्टी के सदस्यों ने गुरुवार को पंजाब और हरियाणा भवन के बाहर दोनों राज्यों की सरकार पर पराली जलाने के खिलाफ कदम ना उठाने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया था। वहीं देश की राजधानी पर छायी जहरीली धुंध की चादर शुक्रवार सुबह और गहरी हो गई। रात भर में प्रदूषण का स्तर लगभग 50 अंक बढ़ गया और समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 459 पर पहुंच गया।

ईपीसीए ने पंजाब, हरियाणा में सख्त कदम उठाने कहा 
उच्चतम न्यायालय से अधिकार प्राप्त प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण ‘ईपीसीए’ ने राष्ट्रीय राजधानी में वायु गुणवत्ता आपात स्थिति में पहुंच जाने पर शुक्रवार को क्रियान्वयन एजेंसियों को पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए तत्काल कड़े कदम उठाने का निर्देश दिया। इन दोनों पड़ोसी राज्यों में पराली जलाये जाने से दिल्ली में प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया है। दिल्ली के कुल प्रदूषण में बृहस्पतिवार को 27 फीसदी हिस्सेदारी इन दोनों राज्यों में पराली जलाये जाने की घटनाओं की रही। बुधवार को यह हिस्सेदारी 35 फीसदी तक पहुंच गई थी, जो अब तक की सर्वाधिक थी।

जेसिका लाल की हत्यारे मनु शर्मा ने वक्त से पहले रिहाई की लगाई गुहार

पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम एवं नियंत्रण) प्राधिकरण (ईपीसीए) एजेंसियों को यह निर्देश भी दिया कि दिल्ली और इसके बाहरी इलाकों में ‘बायोमास’ (पराली) जलाने पर रोक लगाने के लिए कड़े कदम उठाए जाएं।      इससे पहले ईपीसीए ने दिल्ली-एनसीआर में जन स्वास्थ्य के लिये आपातस्थिति की घेाषणा की और निर्माण गतिविधियों पर पांच नवंबर तक के लिए रोक लगा दी। उसने र्सिदयों के मौसम में पटाखे जलाने पर भी पाबंदी लगा दी। 

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल ने सुरक्षा अधिकारियों से की मुलाकात

ईपीसीए प्रमुख भूरेलाल द्वारा दो पड़ोसी राज्यों को लिखे पत्र में कहा गया है, ‘‘ पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम एवं नियंत्रण) प्राधिकरण ने क्रियान्वयन एजेंसियों को पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए तत्काल कड़े कदम उठाने का निर्देश दिया है।’’ पंजाब और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक राज्य में पराली जलाने की घटनाएं 27 अक्टूबर के 12,027 से बढ़कर 30 अक्टूबर को 19,869 हो गयी। उसी प्रकार हरियाणा में पराली जलाने के मामले 27 अक्टूबर के 3,735 से बढ कर 30 अक्टूबर को 4,211 हो गये। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.