Friday, May 14, 2021
-->
assam congress announces grand alliance before elections silence on cm faces prshnt

असम: चुनाव से पहले कांग्रेस ने की महागठबंधन की घोषणा, सीएम चेहरे पर रही खामोशी

  • Updated on 1/20/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। असम में विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Election) के लिए राजनीतिक पार्टीयों की तैयारी तेज हो गई है। कांग्रेस (Congress) और पांच अन्य दलों ने मंगलवार को असम में विधानसभा चुनावों के लिए आधिकारिक तौर पर महागठबंधन की घोषणा कर दिया है। असम में विधानसभा चुनाव मार्च-अप्रैल में होने की संभावना है। इस बात की अटकलों पर विराम लग गया है कि पार्टी आखिर एआईयूडीएफ (AIUDF) के साथ जाएगी या नहीं। हालांकि गठबंधन ने अभी मुख्यमंत्री का नाम नहीं दिया है। वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता भूपेश बघेल भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।

गठबंधन की घोषणा करते हुए सीपीआई, सीपीआई (एम), सीपीआई (एमएल), एआईयूडीएफ और आंचलिक गण मोर्चा (एजीएम) कांग्रेस के साथ पांच भागीदार हैं। असम कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा कांग्रेस ने सभी समान विचारधारा वाले दलों को देश के सर्वोत्तम हित के लिए सांप्रदायिक ताकतों को बाहर करने के लिए आमंत्रित करने का फैसला किया। 

कोरोना टीकाकरण: चौथे दिन 5 लाख का आंकड़ा पार, राज्यों को दिए गए ये निर्देश

पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक और जितेंद्र सिंह के साथ चर्चा
कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा कि सभी पांच दलों के नेताओं ने मंगलवार को बघेल और पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक और जितेंद्र सिंह के साथ चर्चा की। हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि आने वाले असम विधानसभा चुनावों में हम सभी मिलकर बीजेपी को बाहर करने के लिए लड़ेंगे। साथ ही, हम अपने गठबंधन में शामिल होने के लिए असम के अन्य क्षेत्रीय दलों और अन्य भाजपा विरोधी दलों को आमंत्रित करने के लिए अपने दरवाजे खुले रखेंगे।

हालांकि गठबंधन के सदस्य इस बात पर चुप हैं कि गठबंधन के लिए संभावित मुख्यमंत्री उम्मीदवार कौन होगा। कांग्रेस ने कहा, हम छह पार्टियों से अपील करते हैं कि अगर आप असम को बचाना चाहते हैं, तो आप असम के युवाओं को उनके सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने में मदद करना चाहते हैं, तो हमें एकजुट होकर चुनाव लड़ना चाहिए।

गुजरात सरकार ने ‘ड्रैगन फ्रूट’ का नाम बदलकर ‘कमलम’ करने का फैसला किया

दो महत्वपूर्ण क्षेत्रीय दल
दूसरी ओर, दो महत्वपूर्ण क्षेत्रीय दल असम जाति परिषद (AJP) और रायजोर दल, जो 2019-20 में राज्य में बड़े पैमाने पर विरोधी सीएए आंदोलन के बाद बने थे, एक गठबंधन के लिए बातचीत कर रहे हैं।

वहीं ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (AASU) और असोम जटियाटाबादी युबा चतरा परिषद (AJYCP) जबकि रायजोर दल कृषक मुक्ति संग्राम समिति (KMSS) का राजनीतिक मंच है, जिसका नेतृत्व जेल में बंद कार्यकर्ता अखिल गोगोई कर रहे हैं। जब बोरा से कांग्रेस के महागठबंधन पर इस गठबंधन के प्रभाव के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा उस गठबंधन का हमारी संभावनाओं पर कोई प्रभाव नहीं होगा।

नाक से दी जाने वाली Vaccine है अधिक प्रभावी, यहां जानें कैसे?

दो मौजूदा विधायक आधिकारिक रूप से भाजपा में हुए शामिल
दरअसल गठबंधन की घोषणा ऐसे समय में हुई है जब असम में कांग्रेस कई असफलताओं के दौर से गुजर रही है। पिछले साल दिसंबर में पार्टी के दो मौजूदा विधायक आधिकारिक रूप से भाजपा में शामिल हो गए। ये बचाव हाल ही में असम में हुए स्थानीय परिषद के दो चुनावों बीटीसी और तिवा स्वायत्त परिषद (टीएसी) में हारने के बाद कांग्रेस को मिले।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.