Friday, Jan 21, 2022
-->
assam-election-today-rahul-gandhi-jp-nadda-smriti-irani-will-visit-the-state-prshnt

असम चुनाव: आज राहुल गांधी, जेपी नड्डा, स्मृति ईरानी राज्य का करेंगे दौरा

  • Updated on 3/30/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। असम (Assam) में विधानसभा चुनाव (Assembly election) के पहले चरण में 47 सीटों के लिए 27 मार्च को मतदान हुआ। असम में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 47 सीटों के लिए शनिवार को शुरू हुए जिसमें कोविड-19 संबंधी नियमों का सख्ती से पालन करते हुए मतदान हो रहा है। वहीं आज राज्य में राहुल गांधी, जेपी नड्डा, स्मृति ईरानी दौरा करेंगे।

हाई कोर्ट के पूर्व जज करेंगे मेरे खिलाफ आरोपों की जांच : अनिल देशमुख 

23 महिलाओं समेत 264 उम्मीदवार मैदान में 
इस चरण में मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, मंत्रियों तथा विपक्षी नेताओं की राजनीतिक किस्मत का फैसला होगा।     अधिकारियों ने बताया कि पहले चरण में 23 महिलाओं सहित कुल 264 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहले चरण में सुरक्षा बलों की कुल 300 कंपनियों को तैनात किया गया है, जिसमें लोग ऊपरी असम के 12 जिलों और ब्रह्मपुत्र के उत्तरी तटीय जिलों में 11,537 मतदान केंद्रों पर मतदान कर रहे हैं।    

'100 करोड़ की उगाही' की होगी जांच, 'सामना' में वार पर अनिल देशमुख का पलटवार

पहले चरण का मतदान
अधिकारियों ने कहा कि सभी संवेदनशील इलाकों में गश्त तेज कर दी गई है और कड़ी चौकसी बरती जा रही है। इन 47 सीटों में से अधिकांश पर सत्तारूढ़ भाजपा-अगप गठबंधन, कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी महागठबंधन और नवगठित असम जातीय परिषद (AJP) के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। कुल 81,09,815 मतदाता पहले चरण में अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। इनमें 40,77,210 पुरुष और 40,32,481 महिलाएं हैं, जबकि 124 थर्ड जेंडर मतदाता हैं, इसके अलावा नौ विदेशी मतदाता हैं। मतदान शाम छह बजे तक जारी रहेगा।  

बता दें कि देश के गृहमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अमित शाह (Amit shah) ने असम रैली में कांग्रेस (Congress) और उसके सहयोगियों पर बरसते हुए कहा था कि असम में एक बार फिर से उनकी सरकार बनने के बाद 'लव एंड लैंड जिहाद' रोकने के लिए कानून बनाएगी। अमित शाह ने बता दें मोरीगांव की एक रैली में कहा है कि बीजेपी असम को एआईयूडीएफ (AIUDF) की पहचान नहीं बनने देगी। बता दें राहुल गांधी ने असम में एक रैली को संबोधित करते हुए एआईयूडीएफ के बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे। उन्होंने कहा कि असम की पहचान श्रीमन शंकर देव और श्रीमन माधवदेव जी हो सकते हैं। हां अगर कांग्रेस चाहे  वह बदरुद्दीन को अपनी पार्टी की पहचान बना सकते हैं। 

मन की बात: होली की शुभकामनाएं देते हुए PM मोदी ने कहा-जरुर याद रखिए ‘दवाई भी कड़ाई भी’

कांग्रेस ने असम में घुसपैठियों को एंट्री दी
अमित शाह ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस और बदरुद्दीन की सरकार ने मिलकर असम में घुसपैठियों को एंट्री दी है। वह कहते हैं कि असम को अगर घुसपैठियों से बचाना है तो कांग्रेस की सरकार को राज्य से बाहर रखना चाहिए। वह कहती हैं कि कांग्रेस उसी बदरुद्दीन अजमल का साथ दे रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने असम को आंदोलन मुक्त, आतंकवाद मुक्त बनाना चाहिए। वह कहते हैं कि असम में 5 वर्ष में करीब सात प्रतिशत जमीन नदियां बहा ले जाती हैं। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.