Wednesday, May 12, 2021
-->
attack-on-rakesh-tikait-farmers-jam-delhi-border-roads-in-anger-kmbsnt

राकेश टिकैत पर हमले के बाद गुस्साए किसानों ने जाम किया चिल्ला बॉर्डर, दी ये चेतावनी

  • Updated on 4/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजस्थान में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Attack On Rakesh Tikait) पर हुए हमले के विरोध में शुक्रवार देर शाम सैकड़ों किसान सेक्टर 14-A चिल्ला बॉर्डर जाम कर धरने पर बैठ गए। किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों के धरने के चलते दिल्ली और नोएडा रोड पर लंबा जाम लग गया।

किसानों का कहना है कि राकेश टिकैत पर हमला होना कार्यकर्ता पूर्ण है। उनकी मांग है कि भारत सरकार राकेश टिकैत को जेड प्लस सुरक्षा दे। उन पर हमला करने वाले हमलावरों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगे जल्द से जल्द नहीं मानी जाती तो वह पूरा एनसीआर जाम कर देंगे।

किसान नेता राकेश टिकैत के काफिले पर अज्ञात लोगों ने किया हमला

किसानों ने दी पूरी एनसीआर जाम करने की चेतावनी
किसानों ने चेतावनी दी है कि अभी नोएडा का चिल्ला बॉर्डर जाम किया है। धीरे-धीरे डीएनडी और दिल्ली से जुड़े रोड को जाम कर दिया जाएगा। वहीं नोएडा एडीसीपी रणविजय सिंह का कहना है कि किसानों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। किसानों की कुछ मांगे हैं जिससे उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। 

राजस्थान के अलवर टिकैत के काैफिले पर फेंके गए पत्थर
बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत की गाडिय़ों के काफिले पर शुक्रवार को राजस्थान के अलवर जिले में कुछ लोगों ने कथित रूप से पत्थर फेंके। घटना में किसी को चोट तो नहीं लगी लेकिन टिकैत की कार का पिछला शीशा थोड़ा क्षतिग्रस्त हो गया। यह घटना बहरोड़ के ततारपुर चौराहे पर हुई। टिकैत ने शुक्रवार को अलवर में दो किसान रैलियों को संबोधित किया।

टिकैत के वाहन को बनाया गया था निशाना
भिवाड़ी के पुलिस अधीक्षक राम मूर्ति जोशी ने बताया कि जिस वाहन को निशाना बनाया गया था उसमें टिकैत मौजूद नहीं थे। घटना में कोई घायल नहीं हुआ।  उन्होंने बताया कि मत्स्य विश्वविद्यालय अलवर के छात्र नेता कुलदीप राव ने अपने समर्थकों के साथ वहां से गुजर रहे टिकैत के काफिले को काले झंडे दिखाए।   

केजरीवाल ने बढ़ते Corona केस पर जताई चिंता,कहा- Lockdown समाधान नहीं,जागरुकता जरुरी

'40-50 लोगों ने किया था हमला'
टिकैत के साथ चल रहे भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राजाराम मील ने कहा कि आरोपी लगभग 40-50 थे और उनके पास लाठियां थीं।  उन्होंने कहा, ‘‘हम हरसोली में पहली बैठक को संबोधित करने के बाद बानसूर की ओर जा रही थे तो तातारपुर के पास यह घटना हुई।’’ घटना के बाद टिकैत ने दूसरी सभा को संबोधित किया।  माकपा के पूर्व विधायक अमरा राम ने आरोप लगाया कि भाजपा के इशारे पर एबीवीपी के सदस्यों ने हमला किया। 

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.