Friday, Oct 29, 2021
-->
attacked-in-ladakh-at-the-behest-of-general-xu-qiliang-who-is-close-to-pakistan-prsgnt

क्या पाकिस्तान के करीबी जनरल किलिंग के इशारों पर हुआ लद्दाख में सैनिकों पर हमला?

  • Updated on 6/20/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत और चीन के बीच पिछले 2 महीने से लद्दाख सीमा को लेकर तनाव बना हुआ है। बीते 15 जून की रात को हुई भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद हालात और बिगड़ गये हैं। हालांकि सीमाओं पर झड़प होना कोई नया नहीं है।

पहले भी कई बार भारत और चीन के बीच इस तरह की झड़पें हो चुकी हैं जो बातचीत के बात शांत हो जाती रही हैं लेकिन इस बार की झड़प ने हिंसा का रूप ले किया और इसमें भारतीय सेना के 20 जवान भी शहीद हो गए। इसी हमले को लेकर अब एक बड़ा खुलासा हुआ है।

अगर जंग हुई तो चीन नहीं भारत का पलड़ा रहेगा भारी, जानिए कितनी है दोनों देशों की ताकत

इनके इशारों पर हुआ हमला
भारत और चीन के बीच हुए हिंसक संघर्ष के पीछे किसका हाथ इसका कुछ रिपोर्ट्स के आधार पर खुलासा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो भारत पर चीन की तरफ से हमला कराने में चीन के नंबर दो जनरल शू किलिंग का हाथ है। किलिंग चीन के राष्ट्रपति के बेहद करीबी हैं।

भारत ने चीन से बदला लेने के लिए बनाया नया प्लान! इस योजना से बढ़ेंगी चीन की मुश्किलें

कौन है शू किलिंग
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बेहद करीबी और किलिंग पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के नंबर दो जनरल है शू किलिंग। माना जाता है कि शी जिनपिंग के चीन के राष्ट्रपति बनने के बाद किलिंग का तेजी से प्रमोशन हुआ है। किलिंग सबसे अनुभवी जनरलों में से एक हैं।

कुछ रिपोर्ट्स बताती है कि किलिंग पीएलए के 5 थिएटर कमांड में से 4 की जिम्मेदारी ले चुके हैं, इसके बाद जब उन्हें 5 जून को पश्चिमी थिएटर कमांड की सेना की जिम्मेदारी दी गई तब उसी के बाद से गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ गई और हिंसा देखने को मिली।

चीनी सेना ने कैसे किया भारतीय जवानों पर हमला? गलवान के सैनिकों ने बयां की पूरी दास्तां...

पाकिस्तानी दौरा
बताया जाता है कि किलिंग को लद्दाख सीमा विवाद की जिम्मेदारी देने के पीछे बड़ी वजह पाकिस्तान है। जब जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म किया गया था, तब 20 दिन बाद ही किलिंग ने पाकिस्तान का दौरा किया था। पाकिस्तान में उनका भव्य स्वागत किया गया था और खुद जनरल बाजवा किलिंग को रिसीव करने आए थे। इस मुलाकात में पाकिस्तानी और चीनी सेना के बीच कई अहम समझौते भी हुए थे। उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया था।

सोची-समझी साजिश
रिपोर्ट्स का कहना है कि ये सब कुछ सोच-समझ कर साजिश के तहत किया जा रहा है। किलिंग को लद्दाख की सीमा की जिम्मेदारी और फिर पाकिस्तान का दौरा सभी कुछ साजिश के तहत किया गया है। ऐसा भी माना जाता है कि जब भारत की तरफ से चीन के लिए सख्ती की गई थी उसी के बाद किलिंग को लद्दाख सीमा की जिम्मेदारी दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.