Thursday, Jan 27, 2022
-->
attorney general refuses contempt proceedings against owaisi comment on savarkar rkdsnt

सावरकर पर टिप्पणी : ओवैसी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही की मंजूरी देने से अटॉर्नी जनरल का इनकार

  • Updated on 10/31/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अटॉर्नी जनरल (एजी) के के वेणुगोपाल ने एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के उस बयान के लिए उनके खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरू करने की मंजूरी देने से मना कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि जांच आयोग ने महात्मा गांधी की हत्या में वी डी सावरकर को संलिप्त पाया था। वैचारिक संगठन अभिनव भारत कांग्रेस ने एजी को पत्र लिखकर उनसे ओवैसी के बयानों के लिए उनके खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू करने की मंजूरी देने को कहा था।

राहुल गांधी बोले- लोकतंत्र की रक्षा करना ही सरदार पटेल को सच्ची श्रद्धांजलि    

  वेणुगोपाल ने कहा कि सच यह है कि शीर्ष अदालत के फैसले में भी इस बात का संज्ञान लिया गया है कि सावरकर को आपराधिक मुकदमे में गांधीजी की हत्या का दोषी नहीं पाया गया था।      उन्होंने कहा, हालांकि अगर फैसले को पूरा पढ़ा जाए तो साफ है कि अदालत न्यायमूॢत कपूर जांच आयोग के निष्कर्षों को देखने की इच्छुक नहीं थी।   

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में चौथे दिन बढ़ोतरी, भाजपा शासित मप्र में पेट्रोल 120 रुपये के पार

  एजी ने 26 अक्टूबर के अपने जवाब में कहा, ‘‘मैं इस ओर भी ध्यान दिलाना चाहूंगा कि न्यायमूॢत कपूर 1962 में उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे और 1966 में जांच आयोग में नियुक्त किये जाते समय वह सेवानिवृत्त न्यायाधीश थे। इसलिए ओवैसी का बयान न्यायमूॢत कपूर आयोग के निष्कर्षों से संबंधित हो सकता है, उच्चतम न्यायालय से नहीं।’’      उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए, यह कहना मुश्किल होगा कि उन्होंने उच्चतम न्यायालय की अवमानना की है। इसलिए मैं ओवैसी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू करने की सहमति नहीं दे सकता।’’  

मोदी सरकार ने जस्टिस अशोक भूषण को बनाया NCLAT का चेयरमैन

    ओवैसी को लिखे पत्र में अभिनव भारत कांग्रेस और उसके संस्थापक पंकज फडऩीस ने उच्चतम न्यायालय के 28 मार्च, 2018 के फैसले का जिक्र किया था जिसमें कहा गया था, ‘‘याचिकाकर्ता की यह दलील अनुचित है कि श्री सावरकर को गांधीजी की हत्या के लिए दोषी पाया गया था।’’      संगठन ने 15 अक्टूबर के पत्र में लिखा, ‘‘देश की सर्वोच्च अदालत के इस स्पष्ट कथन के बाद यह कहने की गुंजाइश ही कहां रह जाती है कि सावरकर ने गांधीजी की हत्या की, जैसा कि आपने कहा है?’’ 

पप्पू यादव बोले- पूर्व CAG विनोद राय को माफी नहीं, फांसी की सजा मिलनी चाहिए

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.