Tuesday, Oct 26, 2021
-->
audience-appreciate-laxman-parshuram-dialogue-and-sita-swayamvar

नाथ संभुधनु भंजनिहारा, होइहि केउ एक दास तुम्हारा.....

  • Updated on 10/8/2021

नई दिल्ली। अनामिका सिंह। रामलीला मंचन के दौरान जैसे ही प्रभू राम ने शिव धनुष तोडा तो स्वर्गलोक से पुष्पों की वर्षा होने लगी। इसी दौरान क्रोधित परशुराम पहुंचकर जब धनुष तोडने वाले के विषय में पूछतें हैं तब लक्ष्मण-परशुराम संवाद सुनकर दर्शकों ने खूब तालियां बजाईं। लेकिन जैसे ही अपनी सौम्यता के साथ आकर श्रीरामचंद्र, परशुराम से कहते हैं कि मैं तो केवल राम हूं आप तो परशुराम हैं यदि मुझसे गलती हुई तो मैं उसके लिए क्षमायाचना करता हूं। जिसके बाद दर्शकों ने जमकर जय श्रीराम का उद्घोष किया।
प्रकट भए कृपाला, दीनदयाला......

धनुष टूटते ही जनक दरबार चमका रंगबिरंगी रोशनी से 
बता दें कि रामलीला के तीसरे दिन राजधानी दिल्ली की रामलीलाओं में पत्थर की मूर्ति बनी अहिल्या को तारने, लक्ष्मण-परशुराम संवाद व सीता स्वयंवर का भव्य मंचन किया गया। तीसरे दिन लालकिला मैदान में होने वाली लवकुश रामलीला कमेटी में जनक दूत आगमन से लेकर लक्ष्मण-परशुराम संवाद तक की लीला का मंचन हुआ। सीता स्वयंवर के दृश्य को और अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए विशाल स्टेज पर लेटेस्ट तकनीक और स्पेशल साउंड इफेक्ट सहित प्रभु शिव का विशाल धनुष सेंटर में रखा गया जैसे ही प्रभुराम ने धनुष तोड़ा वैसे ही जनक दरबार रंगबिरंगी बिजली की रोशनी से चमक उठा। बता दें कि प्रभु श्रीराम के किरदार में टीवी के अभिनेता गगन मलिक और सीता बनी बालीवुड ऐक्ट्रेस समीक्षा भटनागर ने अपनी अभिनयकला से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
लव कुश रामलीला में फिल्म स्टार्स के अलावा 5 केंद्रीय मंत्री भी कर रहे हैं अभिनय

भाजपा नेता विजेंदर गुप्ता ने निभाया राजा जनक का किरदार 
राजा जनक के किरदार में भाजपा के नेता व दिल्ली विधान सभा में विपक्ष के नेता विजेंदर गुप्ता ने अपने बेहतरीन अभिनय से साबित कर दिखाया कि राजनीति के साथ-साथ उन्हें एक्टिंग में भी महारत हासिल है। जैसे ही वो मंच पर आए लोगों ने जोरदार तालियां बजाकर उनका स्वागत किया।
मां ब्रह्मचारिणी की पूजा कर मांगा स्वस्थ रहने का वरदान

सीता स्वयंवर देख भावुक हुए दर्शक
विष्णु अवतार रामलीला कमेटी शास्त्री पार्क द्वारा तीसरे दिन सीता स्वयंवर व लक्ष्मण-परशुराम संवाद का सुंदर मंचन किया गया। जैसे ही सीता के गले में राम ने वरमाला डाली और उनकी जनकपुर से विदाई हुई, वैसे ही वहां मौजूद दर्शक भावुक हो गए।
बाघिन हुईं अदिति व सिद्धि, सिंहनी हुई महागौरी व शैलजा

शिक्षा हेतु राम गए वन
कश्मीरी गेट पर होने वाली श्री नवयुवक रामलीला कमेटी में प्रभुराम का भाईयों सहित शिक्षा हेतु वन गमन, ताडका वध व सुबाहु वध की लीला का मंचन किया गया। ताडका वध को युवा दर्शकों द्वारा काफी पसंद किया गया। यही नहीं बीच-बीच में लीला के महामंत्री जत्थेदार अवतार सिंह दर्शकों को कोरोना से बचाव के लिए भी जागरूक करते दिखे।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.