Monday, Nov 18, 2019
ayodha verdict ram mandir somnath tample supreme court decision

Ayodhya Verdict: सोमनाथ मंदिर की तरह बनेगा अयोध्या में भगवान राम का मंदिर

  • Updated on 11/9/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आज यानि शनिवार को वो वक्त आ ही गया जब उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने सालों से चले आ रहे अयोध्या विवाद पर निर्णायक फैसला सुनाया है। न्यायालय ने मंदिर के निर्माण में तेजी दिखाते हुए केंद्र व उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार  को लगभग 90 दिनों के अदंर ट्रस्ट बनाने का आदेश दिए हैं। मंदिर का निर्माण गुजरात के सोमनाथ मंदिर की तरह होगा। 

अयोध्या मामले में SC ने सुनाया फैसला, लखनऊ में शांति, सूनी पड़ी हैं सड़कें

राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा ने किया देश को समर्पित
दरअसल सोमनाथ मंदिर का निर्माण भी केंद्र सरकार द्वारा गठित ट्रस्ट  से किया गया था। सोमनाथ मंदिर साल 1995 में उस समय के तत्कालीन राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा (Shankar Dayal Sharma) ने देश को समर्पित किया था। बता दें कि सोमनाथ मंदिर भारतवर्ष में स्थित 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। धन-धान्य से संपन्न इस मंदिर पर 1025 में महमूद गजनवी ने आक्रमण कर सारी सम्पत्ति लूट ध्वस्त कर दिया था। 

अयोध्या फैसले पर तुषार का तंज- बापू की हत्या पर आज फैसला आए तो गोडसे हत्यारे लेकिन देशभक्त होंगे

राजा भोज ने कराया निर्माण
बता दें कि मंदिर का पुनर्निमाण गुजरात के राजा भोज ने कराया था। इस मंदिर की अनेक गाथाएं हैं। जिसके कारण दूर-दूर से सैलानी यहां मंदिर के दर्शन करने आते हैं।

अयोध्या मामले में SC ने सुनाया फैसला, लखनऊ में शांति, सूनी पड़ी हैं सड़कें

दशरथ थे अयोध्या के  63वें शासक
अयोध्या का महत्व इस बात से भी लगाया जा सकता है कि जब भी प्राचीन भारत के तीर्थ स्थलों का उल्लेख होता है। तीर्थ स्थलों मे सबसे पहले अयोध्या का ही नाम आता है। आप को बता दे की इसकी स्थापना 22000 BC के आस-पास हुई थी। और भगवान राम के पिता दशरथ इस के 63 वें शासक थे। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.