Monday, Nov 18, 2019
ayodhya verdict decision on ayodhya is not final today, the parties have the option

अयोध्या पर फैसला आज अंतिम नहीं, पक्षकारों के पास हैं ये विकल्प

  • Updated on 11/9/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद (Ayodhya case) मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court of India) में आज होगी। इस फैसले का इंतजार पूरे देश को कई सालों से था। ऐसे में फैसला सुनाए जाने से पहले देश भर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं, पूरी अयोध्या नगरी को सुरक्षा के मद्देनजर छावनी में तब्दिल कर दिया गया है। सभी लोगों में फैसले को लेकर इंतजार है वहीं अगर फैसला जिसके पक्ष में नहीं आया तो उनके लिए आगे का रास्ता क्या है? 

अयोध्या केस पर फैसला आज, UP के सभी स्कूल-कॉलेज रहेंगे बंद

रिव्यू पिटीशन डालने का मौका
अयोध्या मामले में कोर्ट का फैसला आज जिसके पक्ष में नहीं होगा उनके पास आगे पुनर्विचार याचिका यानी रिव्यू पिटीशन डालने का मौका रहेगा। पक्षकार को लेकर सुप्रीम कोर्ट से पुनर्विचार याचिका दाखिल कर सकता है जिसकी सुनवाई कोर्ट आगे करेगा। हालाकि कोर्ट ये तय करेगा कि याचिका को कोर्ट में सुना जाएगा या चैंबर में। 

अयोध्या पर फैसले के बाद अगर कोई याचिका दाखिल करते हैं तो बेंच अपने स्तार पर इस याचिका को खारिज कर सकती है या इसे उपरी वेंच को सैंप सकती है। बता दें कि अब तक किसी भी याचिका पर बेंच अपने स्तर पर ही फैसले लेता रहा है। 

अयोध्या केस में अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ योगी आदित्यनाथ सख्त, जारी किए ये निर्देश

क्यूरेटिव पिटीशन
इसके साथ ही पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से फैसला सुमाए जाने के बाद भी पक्षकार के पास एक और विकल्प होगा। ये विकल्प कोर्ट के  फैसले के खिलाफ दूसरा और अंतिम विकल्प है जिसे उपकार याचिका यानी क्यूरेटिव पिटीशन कहा जाता है। 

क्यूरेटिव पिटीशन, पुनर्विचार याचिका से थोड़ा अलग है। इसमें फैसले की जगह उन मुद्दो को देखा जाता है जिसमें उन्हे लगता है कि इन पर ध्यान दिए जाने की जरूरत है। इस क्यूरेटिव पिटिशन पर भी कोर्ट फैसला सुना सकता है या खारिज कर सकता है। इस स्तर पर आकर केस खत्म हो जाता है और जो भी फौसला आता है वो सर्वमान्य होता है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.