Thursday, Dec 09, 2021
-->
azad-once-again-praised-pm-modi-said-this-prshnt

आजाद ने एक बार फिर की PM मोदी की तारीफ, कही ये बात

  • Updated on 3/1/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने एक बार फिर पीएम मोदी के तारीफ करते सुने गए, उन्होंने रविवार को कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) जैसे नेताओं को पसंद करते हैं जिन्हें अपनी जड़ों पर गर्व है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी चाय-विक्रेता के रूप में अपने अतीत के बारे में खुलकर बोलते हैं। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री आजाद ने यहां गुर्जर देश चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि किसी व्यक्ति को दुनिया से अपनी असलियत नहीं छिपानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि मैं खुद गांव का हूं और मुझे इसका फख्र है। मैं अपने प्रधानमंत्री जैसे नेताओं की काफी प्रशंसा करता हूं जो कहते हैं कि वह गांव से हैं। वह चाय बेचते थे। आजाद ने कहा कि मोदी के साथ मेरे राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन वह भी अतीत में चायवाला होने के बारे में खुल कर बात करते हैं। 

PM मोदी ने ली कोरोना वैक्सीन की पहली डोज, आम लोगों से की ये अपील

कई नेता एक मंच पर एकत्रित हुए
आजाद की इस टिप्पणी से एक दिन पहले कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन और संगठनात्मक फेरबदल की मांग करने वाले जी-23 के कई नेता एक मंच पर एकत्रित हुए थे। उनका कहना था कि पार्टी कमजोर हो रही है और वे इसे मजबूत करने के लिए एक साथ आए हैं। वहीं नैशनल कांफ्रैंस के नेता एवं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने बड़ा बयान दिया है। 

अब्दुल्ला ने कहा कि मैं चाहता हूं कि कांग्रेस मजबूत हो। साथ ही देश की विभाजनकारी ताकतों से लडऩे के लिए एकजुट होना चाहिए। फारूक अब्दुल्ला का ये बयान तब आया है जब कांग्रेस में खुलेआम बगावत देखने को मिल रही है। जम्मू में हुए कार्यक्रम में कपिल सिब्बल ने कहा था कि सच ये है कि हम कांग्रेस पार्टी को कमजोर होते देख रहे हैं। यही वजह है कि आज हम यहां इक हुए हैं। हमारा उद्देश्य एक साथ होकर पार्टी को मजबूत करना है।

राम मंदिर निर्माण के लिए निधि समर्पण अभियान हुआ खत्म, 2100 करोड़ की राशि हुई प्राप्त

कांग्रेस में G-23 का नेतृत्व कर रहे कद्दावर नेता आजाद
बता दें कि इससे पहले कल तक जो नेता कांग्रेस के शासनकाल में सरकार और पार्टी की दिशा और दशा को दशकों तक तय करते रहे वे आज अचानक से असंतुष्ट नजर आ रहे है। इन नेताओं ने पार्टी की लगातार हार और कमजोर हो रही साख के लिये गांधी परिवार को इशारों ही इशारों में ही जिम्मेदार ठहरा दिया है। कांग्रेस में G-23 का नेतृत्व कर रहे कद्दावर नेता गुलाम नवी आजाद लगातार राज्यसभा से रिटायरमेंट के बाद से चर्चा में है। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की तारिफ करके फिर से एक राजनीतिक संदेश देने की कोशिश की है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.