Sunday, Apr 21, 2019

आजम खान के बेटे अब्दुल्ला खान का आरोपः मुसलमान होने के नाते EC ने लगाया बैन

  • Updated on 4/16/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भाजपा नेता जयाप्रदा के खिलाफ विवादित टिप्पणी के बाद चुनाव आयोग द्वारा प्रचार पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद भा आजम खान की जुबान पर लगाम लगता नहीं दिख रहा है। आयोग के प्रतिबंध को लेकर सवाल पूछे जाने पर भड़के आजम खान ने आज पत्रकारों को कहा कि यहां से हट जाइए नहीं तो रास्ता रोकने पर आप लोगों के खिलाफ एफआइआर हो जाएगा।

भोपाल में एक कार्यक्रम में भाग लेने आए आजम खान से जब बार-बार बैन को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा- आप मुझे तहजीब मत सीखाइए। कल भी आजम संवाददाताओं पर भड़क गए थे और भोपाल आने पर पूछे जाने पर कहा था- आपके अब्बू के जनाजे में आया हूं।

नफरत भरे भाषण को लेकर चुनाव आयोग की कार्रवाई से सुप्रीम कोर्ट असंतुष्ट

उत्तर प्रदेश के रामपुर में एक सभा को संबोधित करते हुए आजम खान ने रामपुर से भाजपा उम्मीदवार जयाप्रदा को लेकर आपत्तीजनक टिप्पणी की थी जिसे संज्ञान में लेते हुए चुनाव आयोग ने उनपर 72 घंटे चुनाव प्रचार से दूर रहने का प्रतिबंध लगाया था। 

आजम खान और मेनका गांधी पर भी चुनाव आयोग ने गिराई गाज

बता दें कि आजम खान ने एक विवादित टिप्पणी करते हुए कहा था कि, 'जिसको हम उंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिनसे प्रतिनिधित्व कराया...उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनका अंडरवियर खाकी रंग का है।'

इसके साथ ही कहा कि मैं रामपुर वालों से सवाल करता हूं कि क्या राजनीति इतनी गिर जाएगी कि 10 बरस जिसने रामपुर वालों का खून पीया, जिसे उंगली पकड़कर हम रामपुर में लेकर आए। जिसका हमने पूरा ख्याल रखा। उसने हमारे ऊपर क्या-क्या आरोप नहीं लगाए।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.