Saturday, Nov 17, 2018

बाबा केदारनाथ के कपाट शीत कालीन के लिए बंद

  • Updated on 11/9/2018

रुद्रप्रयाग/ब्यूरो। आज भैया दूज के दिन बाबा केदार के कपाट अगले छह माह शीतकाल के लिए आम श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए हैं। तमाम रीति रिवाज और पूजा अर्चना के बाद बाबा केदार की चल उत्सव विग्रह डोली  उखीमठ के लिए रवाना हो चुकी है।

9 नवंबर को बाबा केदार की डोली रामपुर में रात्रि प्रवास करेगी, जिसके बाद 10 तारीख को गुप्तकाशी में रुकने के बाद केदारनाथ की उत्सव डोली 11 नवंबर को अपने शीत कालीन गद्दी स्थल मकू मठ में विराजमान हो जाएगी। इसके बाद देश विदेश के श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन शीतकाल के लिए ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में कर पाएंगे।

भगवान शिव के 11 वें ज्योतिर्लिंग श्री केदारनाथ मंदिर के कपाट विधिवत पूजा अर्चना के बाद सुबह 8:30 पर शीतकाल के लिए बंद कर दिये गये। अब अगले छह महीनों तक श्रद्धालु बाबा के दर्शन उनके शीतकालीन प्रवास स्थल उखीमठ में स्थित ओंकारेश्वर मंदिर में कर सकेंगे।

खानपुर रेंज में टस्कर की गोली लगने से मौत, विभाग में मचा हड़कंप

कपाट बंद होने की प्रक्रिया सुबह चार बजे से केदारनाथ मंदिर के गर्भ गृह में भगवान की विशेष पूजा के साथ शुरू हुई। पूजा मंदिर के मुख्य पुजारी टी. गंगाधर लिंग ने अपने सहयोगियों के साथ संपन्न किया। कपाट बंद होने के मौके पर परम्परागत वाद्ययंत्रों और सेना के बैंड की मधुर धुनों और बाबा केदार के जयकारों से केदार पुरी का वातावरण भक्तिमय बना हुआ था।

उत्सव यात्रा के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालु पैदल निकले। भगवान केदारनाथ के कपाट बंद होने के बाद उत्सव यात्रा के दौरान गुप्तकाशी में एकदिवसीय मेला भी आयोजित हो रहा है। श्री केदारनाथ बद्रीनाथ मंदिर समिति के जनसंपर्क अधिकारी हरीश गौड़ ने बताया कि सुहावने मौसम के बीच उत्सव यात्रा उखीमठ के लिए रवाना हो गई जो विभिन्न पड़ावों से गुजरती हुई तीन दिन बाद गंतव्य तक पहुंचेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.