Monday, Aug 02, 2021
-->
baba ramdev appealed to supreme court against fir of ima rkdsnt

बाबा रामदेव IMA की FIR के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की शरण में

  • Updated on 6/23/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। योग गुरु बाबा रामदेव ने कोविड-19 महामारी के दौरेान एलोपैथी इलाज के खिलाफ की गई उनकी कथित टिप्पणियों को लेकर भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) द्वारा बिहार और छत्तीसगढ़ में दर्ज कराए गए कई मामलों पर रोक के लिए उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की है। 

फेसबुक, व्हाट्सऐप को दिए CCI के नोटिस पर कोर्ट ने रोक लगाने से किया इनकार

आईएमए की पटना और रायपुर इकाई ने योग गुरु रामदेव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया है कि कोविड-19 नियंत्रण प्रक्रिया में उनकी टिप्पणियों से पूर्वाग्रह की स्थिति उत्पन्न हो सकती है और यह लोगों को महामारी के खिलाफ उचित इलाज के प्रति हतोत्साहित कर सकती है। 

सलमान खुर्शीद बोले- यूपी में प्रियंका गांधी हैं कांग्रेस की कप्तान, भाजपा मुख्य प्रतिद्वंदी

बाबा रामदेव ने अपनी याचिका में पटना और रायपुर में दर्ज प्राथमिकियों को दिल्ली स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है। उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता और आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। बाबा रामदेव ने मामले में दर्ज प्राथमिकियों को एक साथ मिलाकर दिल्ली स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है। 

बंगाल विस अध्यक्ष ने राज्यपाल धनखड़ की ओम बिरला से की शिकायत 

इसके साथ ही उन्होंने न्यायालय से अंतरिम राहत के तौर पर आपराधिक शिकायतों की जांच पर रोक लगाने का भी अनुरोध किया है। गौरतलब है कि बाबा रामदेव के कथित बयान से देश में एलोपैथी बनाम आयुर्वेद की बहस शुरू हो गई थी। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन द्वारा टिप्पणी को ‘अनुचित’ करार दिए जाने और पत्र लिखने के बाद बाबा रामदेव ने 23 मई को अपना बयान वापस ले लिया था। 

बिना कांग्रेस के विपक्षी मोर्चा बनाने की कोशिश भाजपा को फायदा पहुंचाएगी: नाना पटोले

 

 

 

 

comments

.
.
.
.
.