Thursday, Dec 08, 2022
-->
Baba Ramdev now raises questions death doctors vaccination video viral on social media rkdsnt

बाबा रामदेव ने अब डॉक्टरों की मौत और टीकाकरण पर उठाए सवाल, वीडियो वायरल

  • Updated on 5/24/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। ऐलोपैथी चिकित्सा को निशाना साधने और बाद में अपना बयान वापस लेने वाले योगगुरु रामदेव ने अब डॉक्टरों और उनकी डिग्री पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। लोगों ने बाबा के खिलाफ कार्रवाई की मांग शुरू कर दी है। 

कोरोना संकट : भाजपा-संघ को सता रही है यूपी चुनाव की चिंता

इससे पहले इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और विपक्षी दलों ने बाबा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने हस्तक्षेप कर रामदेव को पत्र लिख अपना बयान वापस लेने की सलाह दी। 
रामदेव ने भी सोशल मीडिया पर अपना बयान वापस ले लिया और डॉक्टर हर्षवर्धन को पत्र भी लिखा और सफाई भी दी। खास बात यह है कि इस पत्र में उन्होंने आहत लोगों से माफी नहीं मांगी।

हर्षवर्धन ने पत्र के बाद बाबा रामदेव ने अपना बयान वापस लिया, लेकिन माफी से किया गुरेज

लेकिन ताजा वीडियो में रामदेव फिर से डॉक्टरों पर निशाना साधते नजर आए। स्वास्थ्य मंत्री की चेतावनी का उन पर कोई असर नहीं हुआ है। रामदेव वीडियो में 1000 डॉक्टरों की मौत का मजाक उड़ाते दिख रहे हैं। साथ  ही Vaccination पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं। हैरान की बात यह है कि वह खुद को बिना डिग्री वाला डॉक्टर करार दे रहे हैं। इतना ही नहीं, उनके शिविर में योग करने वाले भी नजर आ रहे हैं। 

रामदेव मामले में हर्षवर्धन से आचार्य प्रमोद बोले- “मिमियाने” की बजाय “सख़्त” कार्यवाही करनी चाहिए


गौरतलब है कि रामदेव मामले में हर्षवर्धन ने कहा था कि रामदेव अपना आपत्तिजनक बयान वापस लें। डॉक्टर हर्षवर्धन ने रामदेव को लिखी गई दो पेज की चिट्ठी में स्पष्ट तौर पर कहा, ' संपूर्ण देशवासियों के लिए कोरोना विरुद्ध युद्धरत डॉक्टर और अन्य स्वास्थ्यकर्मी देवतुल्य हैं। ऐसे में बाबा रामदेव जी के बयान ने कोरोना योद्धाओं का निरादर कर देशभर की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है।'

 

कांग्रेस नेता पंखुड़ी पाठक ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'शर्मनाक । हज़ारों डाक्टरों ने कोविड के मरीज़ों का उपचार करते करते अपने प्राणों की आहुति दे दी । एक कारोबारी द्वारा उनके बलिदानों का मज़ाक बनाया जाता है और कोरोना वॉरियर्स के लिए थाली ताली बजवाने वाली सरकार मूक दर्शक बनी बैठी रहती है !'

राहुल गांधी बोले- मुझे शवों के फ़ोटो साझा करना अच्छा नहीं लगता, देश-दुनिया दुखी है लेकिन...

comments

.
.
.
.
.