Thursday, Mar 21, 2019

कतर में पतंजलि के उत्पादों की बिक्री पर लगी रोक, यह है पूरा मामला

  • Updated on 10/10/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कतर सरकार ने अपने देश में बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के सभी उत्पादों की बिक्री पर रोक लगा दी है। कतर सरकार का कहना है कि पतंजलि के उत्पादों में तय मात्रा से ज्यादा केमिकल प्रयोग किया गया है। इसलिये हमने कंपनी के सभी उत्पादों की बिक्री पर रोक लगा दी है।

शशि थरूर ने मामले को लेकर किया ट्वीट
इस मामले में कांग्रेस नेता शशि थरूर ने विवेक पांडे नाम के व्यक्ति का एक ट्वीट शेयर किया। इसमें कतर सरकार के पत्र के हवाले से लिखा गया कि कतर सरकार ने रामदेव की कंपनी के सभी उत्पादों की बिक्री पर रोक लगा दी है। थरूर ने लिखा  कि अगर ये खबर सही है, तो ये काफी गंभीर मामला है।

जेट एयरवेज ने वरिष्ठ अधिकारियों को अगस्त का बकाया वेतन दिया, सितंबर के वेतन में होगी देरी 

बाबा रामदेव सार्वजनिक जगहों, टीवी चैनलों पर हमेशा यह दावा करते हुए दिखाई देते हैं कि उनके प्रोडक्ट 100 फीसदी प्राकृतिक और मिलावट रहित होते हैं। भारत में बड़े पैमाने पर पतंजलि के उत्पाद बेचे जा रहे हैं। यही कारण है कि बाबा रामदेव की यह कंपनी दिन दोगुनी रात चौगुनी तरक्की कर रही है।

जल्द शुरू होगी Amazon की Great Indian Festival महा सेल, जानें क्या होगा खास

हालांकि बाबा रामदेव का इस विषय पर फिलहाल कोई बयान सामने नहीं आया है। अगर कतर सरकार का यह आरोप सही साबित होता है तो रामदेव की कंपनी के उत्पादों की बिक्री पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। आज देशभर में पतंजलि के हजारों स्टोर हैं।

पतंजलि के बारे में
पतंजलि की स्थापना 2006 में हुई थी। दस वर्षों में कंपनी का कारोबार 10 हजार करोड़ रुपये हो गया। 2016-17 में कंपनी का  टर्नओवर 10216 करोड़ रुपये रहा। कंपनी का मुख्यालय हरिद्वार में है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.