Monday, Oct 22, 2018

कतर देश में पतंजलि उत्पाद बैन पर बाबा रामदेव का पलटवार, बताया साजिश

  • Updated on 10/11/2018

हरिद्वार/(नवीन पाण्डेय)। कतर में पतंजलि के उत्पादों की बिक्री पर लगी रोक ने जहाँ बाबा रामदेव की शुद्धता की गारन्टी पर सवाल खड़ा कर दिया था, वहीं मिलावट और उनके प्रोडक्ट नेचुरल बनाये जाते हैं पर भी सवाल उठने लगे थे।

बाबा के बढ़ते साम्राज्य पर भी इसे एक चोट माना जा रहा था लेकिन बाबा रामदेव की ओर से ऐसे किसी भी बैन को बड़ी साजिश करार देते हुए कतर देश से जारी नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट मिलने का दावा कर उत्पादों पर बैन और सवाल उठाने वालों का मुंह सिल दिया है। इस बाबत कतर देश के हलाल सर्टिफिकेट को भी जारी किया गया है।

Navodayatimes
 
अभी कुछ दिन पहले सोशल मीडिया सहित कुछ अन्य प्लेटफार्म पर ये बात तेजी से फैली की कतर सरकार ने अपने देश में बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के सभी उत्पादों की बिक्री पर रोक लगा दी है। दावा किया गया कि कतर सरकार ने पतंजलि के उत्पादों में तय मानक से अधिक केमिकल प्रयोग किया था। सोशल मीडिया पर ये खबर दौड़ गईं। 

Navodayatimes

धर्मनगरी को मौसम ने डराया, काले बादल, तेज हवा और गर्जना के साथ बारिश

इसे बाबा रामदेव के पतंजलि के साम्राज्य के बढ़ते कदम पर गंभीर चोट माना गया पर ये बात सामने आते बाबा रामदेव और उनका मैनेजमेंट सक्रिय हुआ और तुरंत दावा किया गया कि पतंजलि उत्पाद को कतर देश में बैन किये जाने के मामले में भ्रामक प्रचार किया जा रहा है। 

स्वामी रामदेव के राष्ट्रीय प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने पंजाब केसरी/नवोदय टाइम्स के संवाददाता को वाट्सएप कर ट्वीटर का लिंक भेज कर बताया है कि कतर सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने पतंजलि का हलाल सर्टिफिकेट मांगा और पहले से ही जारी सर्टिफिकेट को पेश किया गया। जिसपर नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट दे दिया गया है। श्री तिजारावाला ने कहा कि पतंजलि प्रोडक्ट 100 फीसदी प्राकृतिक और मिलावट रहित है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.