Tuesday, Oct 04, 2022
-->
baba-s-bulldozer-was-not-stopping-ghaziabad-s-yellow-paw-walked-in-these-areas-on-thursday

नहीं थम रहा बाबा का बुल्डोजर, गाजियाबाद में वीरवार को इन इलाकों में चला पीला पंजा

  • Updated on 5/5/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। अवैध रूप से जमीन कब्जाने वालों पर बाबा के बुल्डोजर का कहर बदस्तूर जारी है। शहर में लगातार अवैध रूप से बसाई गई कॉलोनियों या बसाई जा रही कॉलोनियों पर कार्रवाई की जा रही है। इसी क्रम में वीरवार को गाजियाबाद के अलग-अलग इलाकों में अवैध कब्जे के खिलाफ जिला प्रशासन और जीडीए ने कार्रवाई कर करोड़ों रूपए मूल्य की जमीन को कब्जा मुक्त कराया। इंदिरापुरम के कनावनी गांव में जिला प्रशासन ने कार्रवाई की तो गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने डासना में अवैध रूप से विकसित की जा रहीं कॉलोनियों को धराशायी कर दिया। 

जिला प्रशासन ने कब्जा मुक्त कराई 20 करोड़ मूल्य की जमीन 
इंदिरापुरम के कनावनी गांव में जिला प्रशासन ने कार्रवाई की और करीब 20 करोड़ मूल्य की जमीन को कब्जा मुक्त कराया। एसडीएम विनय कुमार सिंह ने बताया कि थाना इंदिरापुरम क्षेत्र के कनावनी गांव के खसरा नंबर 588 में 1.6 हेक्टेयर जमीन सरकार की है। जिस पर कुछ लोगों ने कब्जा किया हुआ था। उसे चिन्हित करते हुए वीरवार को मय फोर्स के करीब 20 करोड़ की इस सरकारी जमीन को कब्जा मुक्त करा लिया गया है। जमीन पर कब्जा करवाने वाले आरोपियों की पड़ताल की जा रही है। 

डासना में चला जीडीए का पीला पंजा
गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई करते हुए प्रवर्तन जोन-3 के अन्र्तगत अवैध रूप से विकसित की जा रही कई कॉलोनियों को ध्वस्त कर दिया। प्रवर्तन जोन-3 की प्रभारी व ओएसडी गुंजा सिंह ने बताया कि नाहल रोड पर शकील प्रधान द्वारा 22 बीघा में काटी जा रही अवैध कॉलोनी, उससे सटी कॉलोनी, कृष्ण प्रधान द्वारा 8 बीघा में विकसित की जा रही अवैध कॉलोनी समेत कुल 70 बीघा में विकसित की जा रहीं अवैध कॉलोनियों को ध्वस्त किया गया। इस दौरान सहायक अभियंता राकेश कुमार सिंह, अवर अभियंता सत्यप्रकाश यादव, अनिल कछाडिया, शीलनिधि शर्मा, बीडी शुक्ला, नरेन्द्र मार्कण्डेय व राजेन्द्र सिंह जीडीए की ओर से कार्रवाई के दौरान मौजूद रहे। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.