Tuesday, Oct 27, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 26

Last Updated: Mon Oct 26 2020 09:33 PM

corona virus

Total Cases

7,918,102

Recovered

7,141,966

Deaths

119,148

  • INDIA7,918,102
  • MAHARASTRA1,645,020
  • ANDHRA PRADESH807,023
  • KARNATAKA802,817
  • TAMIL NADU709,005
  • UTTAR PRADESH470,270
  • KERALA377,835
  • NEW DELHI356,656
  • WEST BENGAL353,822
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA279,582
  • TELANGANA231,252
  • BIHAR212,192
  • ASSAM204,171
  • RAJASTHAN182,570
  • CHHATTISGARH172,580
  • MADHYA PRADESH167,249
  • GUJARAT165,233
  • HARYANA158,304
  • PUNJAB130,640
  • JHARKHAND99,045
  • JAMMU & KASHMIR90,752
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND59,796
  • GOA41,813
  • PUDUCHERRY33,986
  • TRIPURA30,067
  • HIMACHAL PRADESH20,213
  • MANIPUR16,621
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,207
  • SIKKIM3,770
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,219
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
babri case defense of 32 accused including advani filed written argument in court rkdsnt

बाबरी मामला : आडवाणी समेत 32 आरोपियों के बचाव पक्ष ने दाखिल की लिखित बहस

  • Updated on 8/31/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अयोध्या के विवादित ढांचा विध्वंस मामले में सोमवार को बचाव पक्ष द्वारा लिखित बहस दाखिल की गयी। इस मामले में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती व साक्षी महाराज सहित 32 आरोपी हैं। 

सत्येंद्र जैन के निर्वाचन को भाजपा नेता ने दी चुनौती, हाई कोर्ट ने मांगा जवाब

विशेष न्यायधीश एस के यादव ने बचाव पक्ष के वकील से कहा कि अगर वह मौखिक रूप से कुछ कहना चाहते हैं तो मंगलवार तक कह सकते है, वरना उनके अवसर समाप्त हो जायेंगे। इससे पहले अदालत ने इस बात पर नाराजगी जाहिर की थी कि बार बार समय दिये जाने के बाद भी बचाव पक्ष लिखित बहस दाखिल नही कर रहा है। 

कोरोना का कहर भारतीय अर्थव्यवस्था पर, GDP में आई ऐतिहा​सिक गिरावट

सीबीआई की विशेष अदालत को उच्चतम न्यायालय ने सितम्बर महीने तक मामले की सुनवाई पूरी करने व निर्णय करने को कहा है। अदालत को फैसला करने में सीबीआई के 351 गवाहों और अन्य दस्तावेजों पर गौर करना है। सीबीआई पहले ही 400 पृष्ठों की लिखित बहस दाखिल कर चुकी है। 

कोर्ट का प्रशांत भूषण को सजा देना जरूरी नहीं था : पूर्व कानून मंत्री मोइली

 

 

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरों को यहां पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.