Monday, Jun 27, 2022
-->
babri demolition case cbi special court directed accused to appear before it rkdsnt

बाबरी विध्वंस मामले में आरोपियों की होगी पेशी, स्पेशल सीबीआई कोर्ट का निर्देश

  • Updated on 6/10/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने बाबरी विध्वंस मामले (Babri demolition case) में चल रही सुनवाई में आरोपी बृजभूषण शरण सिंह, सतीश प्रधान और पवन कुमार पाण्डेय को निर्देश दिया कि वे 10 जून को सीआरपीसी की धारा-313 के तहत बयान दर्ज कराने के लिए पेश हों।

तृणमूल कांग्रेस ने कहा- कोरोना महामारी में भी वोटों की भूखी है BJP और शाह...

अदालत ने अन्य आरोपियों लल्लू सिंह, कमलेश त्रिपाठी, संतोष दुबे और रामचंद्र खत्री को इसी मकसद से 11 जून को कोर्ट में निजी तौर पर उपस्थित होने का निर्देश दिया। इसी प्रकार आरोपी जय भगवान गोयल, ओमप्रकाश पाण्डेय, अमरनाथ गोयल और जयभगवान सिंह पवैया को बयान दर्ज कराने के लिए 12 जून को अदालत में व्यक्तिगत रूप से पेश होने के लिए कहा गया है। 

अनामिका शुक्ला ने शैक्षिक प्रमाणपत्रों के दुरुपयोग का लगाया आरोप

स्पेशल जज एस के यादव ने उक्त आरोपियों को पेश होने से छूट की अनुमति प्रदान करते हुए यह आदेश दिया। डॉ. राम विलास वेदांती मंगलवार को अदालत में पेश हुए और सीआरपीसी की धारा-313 के तहत बयान दर्ज कराया। उनके अलावा और कोई आरोपी अदालत में मौजूद नहीं था, क्योंकि अदालत ने उनकी अर्जी पर व्यक्तिगत पेशी से छूट दे दी थी। वेदांती पांचवें ऐसे आरोपी हैं, जिनका बयान दर्ज किया गया है।

जम्मू कश्मीर के निलंबित DSP दविंदर सिंह ने दिल्ली में कोर्ट से लगाई गुहार

इससे पहले कोर्ट विजय बहादुर सिंह, गांधी यादव, प्रकाश शर्मा और रामजी गुप्ता के बयान दर्ज कर चुकी है। मामले में कुल 32 आरोपी हैं, जो कोर्ट कार्यवाही का सामना कर रहे हैं। अदालत ने अभियोजन पक्ष के सबूत के आधार पर सभी आरोपियों से खुद के निर्दोष होने के संबंध में जवाब के लिए करीब 1000 सवाल तैयार किए हैं। सीबीआई के वकील ललित सिंह ने बताया कि हर आरोपी का बयान दर्ज किया जाएगा, ऐसे में कार्यवाही संपन्न करने में काफी समय लगना तय है। 

योगी सरकार ने किया यूपी की नौकरशाही में बड़ा उलट-फेर

मामले के आरोपियों में पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी (LK Advani), मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, महंत नृत्य गोपाल दास, साक्षी महाराज और साध्वी ऋतंभरा भी शामिल हैं। सोमवार को आडवाणी, जोशी और उमा भारती से कोर्ट ने कहा कि सीआरपीसी की धारा-313 के तहत बयान दर्ज कराने के लिए कोर्ट जिस दिन बुलाएगी, उन्हें व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होना पड़ेगा। 

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज बाथरूम में फिसले, जांघ की हड्डी टूटी

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.