Thursday, Apr 09, 2020
backward-vaishya-mahakumbh-to-be-held-in-prayagraj

प्रयागराज में पिछड़ा वैश्य महाकुम्भ में जुटेंगे बीजेपी के दिग्गज नेता

  • Updated on 2/21/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh) में बीजेपी जल्द ही  पिछड़ा वैश्य महाकुम्भ  का आयोजन करेगी। यह आयोजन 23 फरवरी को होगा।पार्टी ने इस बाबत कहा है कि वैश्य समुदाय के पिछड़ों को पार्टी से जोडऩे और उनकी राजनीतिक जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से यह पिछड़ा वैश्य महाकुम्भ एक ऐतिहासिक होगा।

CM योगी का सपा- कांग्रेस पर तंज, कहा- देश को समाजवाद नहीं, रामराज्य की जरूरत

इस आयोजन के संयोजक और प्रतापगढ़ लोकसभा क्षेत्र से सांसद संगम लाल गुप्ता ने आज बताया किआजादी के बाद वैश्य समाज के पिछड़े लोगों का यह पहला विशाल सम्मेलन है जिसमें पूरे प्रदेश से 2-3 लाख लोग शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि वैश्य समाज के ये लोग 10-12 जातियों में बंटे हैं जिनमें तेली, कानू, कलवार आदि शामिल हैं।

लखनऊ कोर्ट में बम धमाका मामले में जीतू यादव गिरफ्तार, घटना में दो लोगों की गई थी जान

उन्होंने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने इनके बारे में सोचा और राजनीति में इनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से पिछड़ा वैश्य महाकुम्भ आयोजित करने की पहल की। गुप्ता ने बताया कि इस सम्मेलन के मुख्य अतिथि रेल मंत्री पीयूष गोयल होंगे और सम्मेलन में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, स्थानीय सांसद रीता बहुगुणा जोशी, फूलपुर से सांसद केशरी देवी पटेल आदि शामिल होंगी।    

कंपनी के नाम से बुकिंग कर लोगों को ठगने के मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार

उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह के निर्देश पर इसका आयोजन किया जा रहा है। गुप्ता ने कहा कि प्रदेश की आबादी में पिछड़े वैश्य की हिस्सेदारी 26 प्रतिशत है, लेकिन राजनीतिक भागीदारी नाम मात्र है। उन्होंने कहा कि इनमें राजनीतिक जागरूकता की कमी है जिसे बढ़ाने के उद्देश्य से इस सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.