Thursday, May 06, 2021
-->
bajrang dal accused of harassing nuns in up, kerala cm writes to shah rkdsnt

बजरंग दल पर यूपी में ननों को परेशान का आरोप, केरल के सीएम ने शाह को लिखा खत

  • Updated on 3/24/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने हाल ही में उत्तर प्रदेश के झांसी में कथित तौर पर बजरंग दल के कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा ननों को परेशान किए जाने की घटना की बुधवार को निंदा की और केंद्र से कार्रवाई करने की मांग की। विजयन ने कहा कि ऐसी घटनाओं से देश की छवि को नुकसान होता है। 

परमवीर के आरोपों पर शिवसेना ने फड़णवीस की रिपोर्ट को बेदम करार दिया

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लिखे पत्र में विजयन ने कहा कि उन लोगों पर कार्रवाई की जानी चाहिए जो संविधान द्वारा प्रदत्त व्यक्ति के अधिकारों की स्वतंत्रता का हनन करते हैं। खबरों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि ईसाइयत की शिक्षा ले रही दो युवतियां, दो ननों के साथ पहली बार अपने घर जा रही थीं और इस दौरान कथित तौर पर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने उनके साथ अभद्र व्यवहार किया और धमकाया। 

अर्णब गोस्वामी को गिरफ्तार करने से पहले नोटिस दें मुंबई पुलिस : अदालत

मुख्यमंत्री ने कहा कि बजरंग दल के सदस्यों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि उक्त दोनों युवतियों को जबरन धर्मांतरण के लिए ले जाया जा रहा था, जिसके बाद पुलिस ने ननों और युवतियों को जबरदस्ती ट्रेन से उतरवा लिया। विजयन ने कहा, 'आप मुझसे सहमत होंगे कि ऐसी घटनाओं से देश की छवि धूमिल होती है और धार्मिक सहिष्णुता की प्राचीन परंपरा को नुकसान पहुंचता है।’’ 

शराब सेवन की उम्र को लेकर केजरीवाल सरकार ने दी भाजपा को चुनौती

इससे पहले पथनमथिट्टा में मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि संविधान देश में सभी को धर्म चुनने की स्वतंत्रता देता है। विजयन ने कहा कि सभी को अपनी आस्था के अनुसार जीने का अधिकार है। उन्होंने कहा, '... कल जो कुछ भी हुआ वह स्वतंत्रता पर हमला था। दोनों प्रकार की स्वतंत्रता भारतीयों का मौलिक अधिकार है। ट्रेन यात्रा के दौरान ननों के इन अधिकारों का हनन किया गया।’’ उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जो कुछ भी हुआ वह देश में नहीं होना चाहिए और यह च्च्बेहद गंभीर’’ मामला है। 

देशमुख के खिलाफ परमबीर की याचिका में उठाए गए मुद्दे ‘अत्यंत गंभीर’ : सुप्रीम कोर्ट

झांसी के अधिकारियों के अनुसार, स्थानीय बजरंग दल कार्यकर्ताओं द्वारा शिकायत की गई थी कि उक्त युवतियों को कथित तौर पर जबरन धर्मांतरण के लिए ले जाया जा रहा था जिसके बाद ननों को हिरासत में ले लिया गया था। पुलिस ने कहा था कि शिकायत का कोई आधार नहीं है और बाद में चारों महिलाओं ने ओडिशा स्थित अपने गंतव्य के लिए ट्रेन पकड़ ली थी।  

यूपी में ठाकुर समेत IPS अधिकारियों को कार्यकाल से पहले मोदी सरकार ने किया रिटायर

 

 

 

यहां पढ़े बॉलीवुड से जुड़ी बड़ी खबरें... 

'मुन्नी बदनाम' गाने पर एक साथ थिरकीं मलाइका अरोड़ा और नोरा फतेही, वीडियो हुआ वायरल

रोमांटिक पोज दे रहे थे मलाइका-अर्जुन, करीना ने सरेआम पूछा यह पर्सनल सवाल

जिम लुक में Fans पर कहर बरपा रही मलाइका, जैकेट ने लुक को बनाया Bold

खत्म हुई जुदाई, कोरोना के बाद पहली बार साथ दिखें अर्जुन-मलाइका

पूरे 1 महीने बाद कोरोना निगेटिव आए अर्जुन कपूर, फैंस से कहा- इसे हल्के में ना लें....

अर्जुन और निक की तरह अगर आपको भी है बड़ी उम्र की लड़कियों से प्यार, तो यहां जानें फायदे


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.