Saturday, Jul 31, 2021
-->
Balakrishna came to the rescue of Swami Ramdev, attacked Allopathy rkdsnt

स्वामी रामदेव के बचाव में उतरे बालकृष्ण, एलोपैथी पर बोला हमला

  • Updated on 5/26/2021

हरिद्वार, 26 मई (ब्यूरो) : स्वामी रामदेव के सहयोगी और पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि आयुर्वेद में शोध पर आधारित कोविड-19 की दवा एलोपैथी से पहले आई तो खलबली मच गई। आधुनिक चिकित्सा वालों ने इसकी कल्पना भी नहीं की होगी। बालकृष्ण ने कहा कि प्रत्येक पैथी की सीमाओं को स्वीकारना चाहिए। 

किसान काला दिवस: कृषि कानूनों के खिलाफ काले झंडे, टिकैत ने चेताया

आधुनिक चिकित्सा विज्ञान से जुड़े कई लोग उनके पास आते हैं। जो इलाज जिसके सामर्थ्य में होगा, लोग उसके पास ही जाएंगे। कई बार क्रिटिकल मरीजों को एलोपैथिक चिकित्सकों के पास भेजते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोनिल से मरीज ठीक हुए हैं। यदि कोई इसको लेकर इच्छा रखता है, तो चिकित्सकों की एक कमेटी बनाई जानी चाहिए और कमेटी को पतंजलि योग संस्थान भेजा जाए। जितने भी सवाल होंगे, हम उसके जवाब देने के लिए तैयार हैं। कमेटी के सदस्यों को हम सभी प्रमाण दिखाने के लिए तैयार हैं।

यूपी के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के भाई को असिस्टेंट प्रोफेसर पद से देना पड़ा इस्तीफा

आई.एम.ए. ने कहा, पहले अपनी क्वालीफिकेशन बताएं बाबा
 योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि आई.एम.ए. से पूछे गए 25 सवालों के जवाब वह खुद ही देंगे। वहीं दूसरी ओर आई.एम.ए. ने कहा है कि रामदेव के 25 सवालों के जवाब देने के लिए तैयार हैं, लेकिन पहले रामदेव अपनी क्वालीफिकेशन बताएं। बुधवार को पतंजलि उत्पादों के स्टोर से फेसबुक लाइव करते हुए स्वामी रामदेव ने कहा कि फार्मा इंडस्ट्री, पूरी एलोपैथी और लाखों डॉक्टर जिन बीमारियों को ठीक नहीं कर पाते, बल्कि कंट्रोल के नाम पर बहुत से कॉम्प्लिकेशन पैदा कर देते हैं, उन असाध्य बीमारियों का इलाज घर बैठे ही होगा। आयुर्वेद के पास बीमारी का कंट्रोल भी है और स्थायी समाधान भी।

उप्र में स्वास्थ्य कर्मियों ने पहली खुराक में कोविशील्ड और दूसरी में दे दी कोवैक्सीन 

वहीं दूसरी ओर आई.एम.ए. में उत्तराखंड के प्रदेश सचिव डॉ. अजय खन्ना ने कहा कि स्वामी रामदेव ने एलोपैथ और आयुर्वेद को झगड़ा कराने की विफल कोशिश की है। बाबा रामदेव का मकसद कोरोनिल दवा बेचना है। रामदेव एक बिजनेसमैन हैं। अगर वे आयुर्वेदाचार्य हैं तो उनका पूरा हक सवाल पूछने का है। बाबा रामदेव को चैलेंज करते हुए कहा कि उनके तीन-चार सवालों के जवाब भी दें, जो लाइव डिबेट में उनसे पूछना चाहते हैं। आईएमए ने बाबा को 1000 करोड़ रुपये का मानहानि का नोटिस भी भेजा है। 

एयर इंडिया कर्मचारी संघ ने की PF ट्रस्ट की फारेंसिंक जांच की मांग

उनका बाप भी अरेस्ट नहीं कर सकता : रामदेव
एलोपैथी और डॉक्टर्स को लेकर दिए गए विवादित बयान से पीछा छूटा भी नहीं था कि स्वामी रामदेव का एक और वीडियो वायरल हो गया है। जिसमें वे अरेस्ट किए जाने की मुहिम चलाए जाने वालों को लेकर कह रहे हैं कि उनका बाप भी स्वामी रामदेव को अरेस्ट नहीं कर सकता।40 सेकेंड का यह वीडियो स्वामी रामदेव के किसी संस्थान की ऑनलाइन मीटिंग का प्रतीत हो रहा है। वीडियो पर जूम लिखा हुआ दिखाई दे रहा है। सोशल मीडिया पर क्विक अरेस्ट स्वामी रामदेव ट्रेंड किए जाने की बाबत वे कह रहे हैं कि उनकी गिरफ्तारी को लेकर शोर मचाया जा रहा है। कभी कुछ चलाते हैं, कभी कुछ। कभी ठग रामदेव, कभी महाठग रामदेव और कभी कभी गिरफ्तार रामदेव चलाते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे लोगों को भी ट्रेंड चलाने की प्रैक्टिस हो गई है। हमारे लोग ट्रेंड चलाने में टॉप पर पहुंच जाते हैं।

comments

.
.
.
.
.