Wednesday, Oct 27, 2021
-->
Ball-shaped blood vessel removed with complex surgery

गेंद के आकार के ब्लड वेसल को जटिल सर्जरी से निकाला

  • Updated on 9/27/2021

दुर्लभ जेनेटिक बीमारी से पीड़ित थी मरीज 

नई दिल्ली/टीम डिजिटल :  डॉक्टरों ने गेंद के आकार के ब्लड वेसल को बदलने के लिए  जटिल सर्जरी को अंजाम दिया। पीड़ित मरीज एक दुर्लभ जेनेटिक बीमारी से पीड़ित थी।महिला इन्हेरिटेड मारफान सिंड्रोम से पीड़ित थी जिसकी वजह से उसकी असेंडिग एओर्टा और एऑर्टिक डीसेक्शन (एओर्टा की दीवार का फटना) पतला हो गया था जो हार्ट से लेकर दाहिने पैर तक फैल गया था। 

मार्फन सिंड्रोम ने एओर्टा की बाहरी दीवार के ऊतक को पतला बना दिया, उसकी असेंडिग एओर्टा 6.5 सेमी चौड़ा हो गया था। यह सामान्य चौड़ाई से दोगुना हो गई थी।मार्फन सिंड्रोम की जेनेटिक प्रकृति के कारण उसके दो भाइयों में भी इस बीमारी के साफ लक्षण हैं और दोनों की उम्र 20 -25 के बीच है।  इसलिए टेस्ट कराने की सलाह दी गई और टेस्ट में पाया गया कि पहले से ही हार्ट की समस्या विकसित हो चुकी है।

पीड़िता की मां को भी इसी तरह की हार्ट संबंधी समस्या थी और उन्होंने 15 साल पहले सफलतापूर्वक बेंटाल सर्जरी करवाई थी।यह कॉम्प्लेक्स और बहुत ज्यादा जोखिम वाली सर्जरी थी क्योंकि इसमें कुछ समय के लिए शरीर को ख़ून की आपूर्ति पूरी तरह से बंद करने और पैरालाइसिस को रोकने के लिए ब्रेन को ब्लड की आपूर्ति को नियंत्रित करने की आवश्यकता होती है।

ऐसे उभरी थी समस्या : 
23 वर्षीय देवी को सीने में दर्द हुआ इसके बाद उन्हे आकाश हेल्थकेयर, द्वारका में लाया गया । हॉस्पिटल में आने के बाद उन्हें और उनके परिवार वालों को स्थिति की गंभीरता का एहसास हुआ। कार्डिएक सर्जरी विभाग के निदेशक डॉ अभय कुमार ने बताया कि मार्फन सिंड्रोम ने एओर्टा की बाहरी दीवार के ऊतक को पतला बना दिया, इस वजह से इसके टूटने का खतरा था।

एऑर्टिक डीसेक्शन घातक हो सकता है क्योंकि अगर यह होता है तो हर गुजरते घंटे के साथ मौत का ख़तरा 1 प्रतिशत बढ़ता जाता है। एऑर्टिक डीसेक्शन जिनमे होता है उनमें से लगभग 50 प्रतिशत मरीजों की मृत्यु 2 दिनों में बहुत ही जल्दी हो सकती है। यदि एओर्टा का व्यास 4.5 सेमी या ज्यादा है, तो यह 'बेंटाल' प्रक्रिया का संकेत होता है।

comments

.
.
.
.
.