Wednesday, Oct 20, 2021
-->
bengal central team reaches kolkata, will visit areas affected by cyclone yaas pragnt

बंगाल: कोलकाता पहुंचा केंद्रीय दल, चक्रवात 'यास' से प्रभावित इलाकों का करेंगे दौरा

  • Updated on 6/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। चक्रवात तूफान यास ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भारी तबाही मचाई है। ऐसे में चक्रवात यास से पश्चिम बंगाल में हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम कोलकाता पहुंची। इस दौरान वे चक्रवात यास से प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे।

देश में आज से अनलॉक की शुरुआत, इन राज्यों में कई तरह की छूट, जानें कहां हटी पाबंदियां

'यास' से हुए नुकसान का जायजा लेने कोलकाता पहुंची टीम
एक अधिकारी ने बताया कि सात सदस्य अंतर मंत्रालीय केंद्रीय दल (आईएमसीटी) रविवार शाम कोलकाता पहुंचा। केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम के एक सदस्य ने बताया, 'हमारी टीम यहां 3 दिन तक रहेगी। चक्रवात से कितना नुकसान हुआ, यह हम देखने के बाद बताएंगे। हम पहले मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना जाएंगे।'

केंद्र सरकार ने कहा- राज्यों के पास अब भी 1.63 करोड़ कोरोना वैक्सीन उपलब्ध

3 दिन तक कोलकाता रहेगी टीम
अधिकारी ने बताया कि सोमवार को आईएमसीटी दीघा और पूर्व मेदिनीपुर के मंदारमणि जाएगा, जहां राज्य सरकार के अधिकारी चक्रवात से पहुंची क्षति से उन्हें अवगत कराएंगे। उन्होंने बताया कि इस दल का नेतृत्व केंद्रीय गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव एस के शाही कर रहे हैं। उम्मीद है कि केंद्रीय दल नौ जून तक यहां क्षति का आकलन पूरा करके दिल्ली लौट जाएगा। 

Cyclone Yaas: बंगाल में मचाई तबाही, ममता ने कहा- 2.21 लाख हेक्टेयर फसल हुई नष्ट

तूफान से 2.21 लाख हेक्टेयर फसल हुई नष्ट- CM ममता
बता दें कि कुछ दिनों पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि चक्रवात 'यास' की वजह से राज्य में 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है और करीब 2.21 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में लगी फसल नष्ट हो गई है। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य ने करीब 1200 राहत शिविर शुरू किए हैं जिनमें करीब दो लाख लोग रह रहे हैं। सीएम बनर्जी ने कहा, 'पश्चिम बंगाल में चक्रवात 'यास' की वजह से करीब 2.21 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में लगी फसल और 71,560 हेक्टेयर बागवानी नष्ट हुई है। राज्य में कुल 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है।'

ममता बनर्जी ने 28 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चक्रवात से हुए नुकसान की एक रिपोर्ट सौंपी थी और प्रभावित इलाकों के पुनर्विकास के लिए 20 हजार करोड़ रुपये की राहत राशि मांगी थी।

comments

.
.
.
.
.