Saturday, Jul 31, 2021
-->
bengal election chuwani battle in bjp tmc accused of planning violence prshnt

बंगाल चुनाव: बीजेपी- TMC में छिड़ी चुनावी जंग, हिंसा आशंका को लेकर लगाया आरोप

  • Updated on 4/1/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बंगाल (Bengal) और असम में आज दूसरे चरण का मतदान जारी है। इससे पहले बुधवार शाम 6.15 बजे, नंदीग्राम (Nandigram) में ममता बनर्जी (Mamta Benarjee) के चुनाव एजेंट, 61 वर्षीय शेख सुपियन ने नंदीग्राम बाईपास के पास अपने घर पर टीएमसी कार्यकर्ताओं के साथ पार्टी के चुनाव की तैयारियों का अंतिम स्टॉक लिया। अचानक उनके सेलफोन पर कॉल आया उसका जवाब देने के बाद, सुपियन ने कहा, मैं यहां उसका चुनाव एजेंट हूं। वह स्पष्ट रूप से मुझे फोन करेगा।

पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक चर्चित निर्वाचन क्षेत्र नंदीग्राम से कुछ घंटे पहले, चुनावों में दोनों खेमों में तनाव की स्थिति थी, जो कि अंतिम समय की तैयारियों के साथ मिलकर और सत्तारूढ़ टीएमसी और मुख्य चैलेंजर बीजेपी दोनों के पार्टी कार्यालयों पर फोन कॉल के जरिए थी। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर गुरुवार को हिंसा में शामिल होने की योजना बनाने का आरोप लगाया। ऐसे में नंदीग्राम में धारा 144 लागू है और निर्वाचन क्षेत्र के 255 मतदान केंद्रों के लिए केंद्रीय बलों की 22 कंपनियां तैनात हैं।

छोटी बचत योजनाओं पर सरकार का यूटर्न- PPF, NSC और SSY पर पुरानी दरें रहेंगी बरकरार

ईसी पर भाजपा का समर्थन करने का भी आरोप
राज्य के अन्य हिस्सों में कई रैलियों को संबोधित करने के बाद शाम 4 बजे के आसपास कल नंदीग्राम लौटी, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मीडिया को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि बाहरी लोग और गुंडे पहले ही निर्वाचन क्षेत्र में प्रवेश कर चुके हैं। उन्होंने चुनाव आयोग (ईसी) पर भाजपा का समर्थन करने का भी आरोप लगाया और कहा कि वह आखिरी वोट डाले जाने के लंबे समय बाद गुरुवार रात तक नंदीग्राम में रहेंगी। उनके भाजपा प्रतिद्वंद्वी एक बार के विश्वासपात्र सुवेंदु अधिकारी ने अपना वोट जल्दी डालने की योजना बनाई।

जनता की जेब पर केंद्र का वार! PPF की ब्याज दरों में हुई भारी कटौती

बीजेपी से निपटने के लिए ममता की गुहार
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गैरभाजपा दलों के नेताओं को चिट्ठी लिख कर लोकतंत्र की रक्षा के लिए एकजुट होने की अपील की है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली (संशोधन) कानून को लेकर लिखी गई इस चिट्ठी में ममता ने आरोप लगाया कि एक चुनी हुई सरकार को शक्तिहीन कर भाजपा उपराज्यपाल के जरिए दिल्ली की सत्ता संचालित करना चाहती है। यही फारमूला वह हर गैरभाजपा शासित राज्यों में राज्यपालों के जरिए अपना रही है।

TMC नेता की धमकी के बाद विश्व भारती के VC ने लगाई PM मोदी से सुरक्षा की गुहार

सरकार पर खतरा मंडराया
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, नवीन पटनायक, जगनमोहन रेड्डी से लेकर तमाम गैरभाजपा दलों के प्रमुखों को लिखी गई यह चिट्ठी वैसे 28 मार्च की है, लेकिन सोशल मीडिया पर सार्वजनिक हुई बुधवार को। वीरवार को पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण का मतदान है। इसी चरण में नंदीग्राम में भी वोट पड़ेंगे, जहां से ममता बनर्जी चुनाव लड़ रही हैं। सियासी गलियारे में इस पत्र की टाइमिंग को लेकर चर्चा गरम है। यह पत्र ऐसे वक्त में सामने आया है, जब महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार पर खतरा मंडराया हुआ है।

जब, अहमदाबाद में शरद पवार-प्रफुल्ल पटेल की केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से कथित मुलाकात हो चुकी है। जब, शरद पवार पश्चिम बंगाल का अपना दौरा रद्द कर अस्वस्थता के चलते अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। जब, पश्चिम बंगाल का किला फतह करने को भाजपा ने अपनी सारी ताकत लगा रखी है और पहले चरण की 85 फीसद सीटें जीतने का दावा कर चुकी है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.