Sunday, May 26, 2019

बंगाल पुलिस मूर्ती को तोड़ने के सबूतों को मिटाने का प्रयास कर रही है: नरेंद्र मोदी

  • Updated on 5/16/2019

 

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(primeminister Modi) ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल पुलिस राज्य सरकार के साथ मिलकर ‘‘तृणमूल कांग्रेस (TMC) के गुंडों’’ द्वारा मूर्ती  को तोडऩे के साक्ष्यों मिटाने का प्रयास कर रही है।

मोदी ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ‘‘अपनी आसन्न पराजय से हताश’’ ममता बनर्जी ने चुनाव के बाद मुझे सींखचों के पीछे डालने की धमकी दी है। उन्होंने दावा किया, ‘‘ये तृणमूल कांग्रेस के गुंडे थे जो तोडफ़ोड़ में शामिल थे। ये ही वे लोग थे जिन्होंने विद्यासागर(ishwar chandra vidyasagar) की आवक्ष प्रतिमा तोड़ी।

ममता बनर्जी का PM मोदी पर हमला, बताया झूठा और बेशर्म

पुलिस अधिकारी तृणमूल कांग्रेस के गुंडों को बचाने के लिए इस घटना के सबूतों को मिटाने का प्रयास कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस और उसके गुंडों ने बंगाल को नरक बना दिया है।’’ उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि प्रतिमा को तोडऩे के कृत्य में शामिल लोगों को बड़ी सजा मिलनी चाहिए।

कोलकाता में मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit shah) के रोडशो के दौरान बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। इस संघर्ष के दौरान 19 वीं सदी के समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़ दी गयी थी। मोदी ने आरोप लगाया, ‘‘दीदी अपनी आसन्न पराजय से चैन खो बैठी हैं। वह इतना हताश हो गयी हैं कि वह धमकी दे रही है कि वह मुझे सलाखों के पीछे डाल देंगी।’’

जानिए क्या है अनुच्छेद 324, जिसके आधार पर प. बंगाल में पहले रुका चुनाव प्रचार

बनर्जी के भतीजे और तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी को निशाना बनाते हुए प्रधानमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि बुआ-भतीजा ‘जोड़ी’ की रूचि केवल बंगाल को लूटने में है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.