Sunday, Jun 26, 2022
-->
bengal: stones thrown at bjp president nadda''''''''s convoy musrnt

प. बंगालः BJP अध्यक्ष नड्डा के काफिले पर पत्थर फेंके गए, विजयवर्गीय के वाहन में तोड़- फोड़

  • Updated on 12/10/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आरोप लगाया कि पार्टी कोलकाता से दक्षिण 24 परगना जिले में जाने के दौरान डायमंड हार्बर इलाके में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के काफिले पर बृहस्पतिवार को पत्थर फेंके गए।

भाजपा के सूत्रों ने बताया कि पथराव की घटना में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की कार में तोड़-फोड़ की गयी। भाजपा के सूत्रों के मुताबिक मीडियार्किमयों के वाहनों को भी नहीं छोड़ा गया। पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने बताया, ‘डायमंड हार्बर की हमारी यात्रा के समय तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने रास्ता अवरुद्ध कर दिया और नड्डा के वाहन तथा दूसरी गाडिय़ों पर पत्थर फेंके। यह तृणमूल कांग्रेस का असली रंग दिखाता है।’ बाद में पुलिस ने हस्तक्षेप किया और सुनिश्चित किया कि काफिला वहां से गुजर सके। 

इससे पहले पार्अटी ने आरोप लगाया कि अध्यक्ष जे पी नड्डा की यात्रा से पहले पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में डायमंड हार्बर में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनके कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की।

भाजपा की राज्य इकाई के सूत्रों ने बताया कि नड्डा के कार्यक्रम स्थल से पार्टी के बैनरों को फाड़ दिया गया और उनके कुछ कार्यकर्ताओं के साथ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मार- पिटाई की।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में ‘जंगल राज’ चल रहा है। रॉय ने कहा, ‘बंगाल में कानून का राज खत्म हो गया है। विपक्षी पाॢटयों को उनके कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति नहीं मिल रही है। राज्य में जंगल राज्य चल रहा है।’

पश्चिम बंगाल में रैली के दौरान पुलिस के साथ BJP कार्यकर्ताओं की झड़प, गोली चलने से एक की मौत

हालांकि तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने इन आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि ये आरोप ‘निराधार’ और ‘राजनीति से प्रेरित’ हैं। नड्डा बुधवार को दो दिवसीय यात्रा पर यहां पहुंचे हैं और वे राज्य में भाजपा की गतिविधियों का जायजा लेंगे और लोगों तक पहुंचने के पार्टी के अभियान में हिस्सा लेंगे। ये कार्यक्रम आगामी 2021 विधानसभा चुनाव से पहले हो रहे हैं।

इससे पहले, सिलीगुड़ी शहर में एक रैली के दौरान फायरिंग हुई और एक बीजेपी कार्यकर्ता की मौत हो गई। रैली में अचानक से हिंसा हुई और फायरिंग शुरू हो गई। रैली में हुई हिंसा को लेकर बंगाल पुलिस ने बीजेपी के राष्ट्रीय और राज्य नेताओं पर आईपीसी की धारा के तहत केस दर्ज किया है। 

त्रिपुरा में दो हिस्सों में बंटे BJP के विधायक, नड्डा ने CM बिप्लब देब को रैली रद्द करने को कहा

दरअसल उत्तर बंगाल के सचिवालय और उत्तर कन्या की ओर जाने वाले दो जुलूसों को रोकने के दौरान बीजेपी और पुलिस के बीज में हिंसक झड़प हुई। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ता उलेन रॉय की मौत हो गई। अब बीजेपी नेताओं ने इसके लिए पुलिस को जिम्मेवार ठहराया है।

बीजेपी नेताओं का कहना है कि पुलिस की गोली से रॉय की मौत हुई है, वहीं पुलिस का कहना है कि रॉय की मौत पुलिस की गोली से नहीं बल्की किसी और गोली से हुई है। पुलिस ने ये भी कहा है कि रैलियों में लोग हथियार के साथ आ रहे थे। वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और राष्ट्रीय सूचना और प्रौद्योगिकी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने अपनी बात को सिद्ध करने के लिए अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से बंदूक दिखाते हुए एक पुलिसकर्मी का वीडियो पोस्ट किया। हालांकि वीडियो किस स्थान का है ये स्पष्ट नहीं हो पाया है। वहीं पुलिसकर्मी बंदूक चलाते नजर नहीं आ रहा है। 

comments

.
.
.
.
.