Wednesday, Aug 10, 2022
-->
bhagwant mann aap ushered in new era of anti-mafia will up to punjab expectations: sidhu rkdsnt

भगवंत मान ने माफिया विरोधी नए युग की शुरुआत की, उम्मीदों पर उतरेंगे खरा : सिद्धू

  • Updated on 3/17/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने बृहस्पतिवार को कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पंजाब में माफिया विरोधी नए युग की शुरुआत की है और उम्मीद है कि वह लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरेंगे। पंजाब में 117 विधानसभा सीटों में से 92 पर आम आदमी पार्टी की शानदार जीत के एक दिन बाद 11 मार्च को सिद्धू ने कहा था कि लोगों ने ‘‘बहुत अच्छा निर्णय’’ लिया है और ‘‘एक नयी नींव रखी है।’’ मान ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। 

जनजातीय मंत्रालय के बजट में कटौती को लेकर विपक्ष ने उठाए मोदी सरकार की नीयत पर सवाल

कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के एक दिन बाद सिद्धू ने एक ट््वीट में कहा, ‘‘सबसे खुश आदमी वह है जिससे कोई उम्मीद नहीं करता...भगवंत मान ने पंजाब में उम्मीदों के पहाड़ के साथ एक नए माफिया विरोधी युग की शुरुआत की...उम्मीद है कि वह पंजाब को पुनरुत्थान पथ पर वापस लाएंगे।’’ 

चुनाव के बाद दाम बढ़ने की आशंका से पेट्रोल, डीजल की बिक्री में जोरदार उछाल

अमृतसर पूर्व से पंजाब विधानसभा चुनाव लड़ने वाले सिद्धू आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार जीवन ज्योत कौर से 6,750 मतों से हार गए। विधानसभा चुनाव के फैसले के बाद सिद्धू ने पंजाब के लोगों द्वारा लाए गए बदलाव का स्वागत करते हुए कहा था कि लोगों की आवाज ईश्वर की आवाज है और उनके फैसले को विनम्रतापूर्वक स्वीकार किया जाना चाहिए।

प्रकाश बादल पूर्व विधायक के तौर पर पेंशन नहीं लेंगे 
शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के वरिष्ठ नेता प्रकाश सिंह बादल ने बृहस्पतिवार को घोषणा की कि वह पूर्व विधायक के रूप में पेंशन स्वीकार नहीं करेंगे। उन्होंने पंजाब सरकार से यह राशि राज्य के लोगों के कल्याण के लिए इस्तेमाल करने को कहा।  पांच बार मुख्यमंत्री रह चुके बादल हाल ही में संपन्न पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के गुरमीत सिंह खुदियां से हार गए थे।  

भगवंत मान के शपथ ग्रहण समारोह के बीच मनीष तिवारी का कांग्रेस पर कटाक्ष

शिअद द्वारा किए गए ट््वीट में कहा गया है, ‘‘ मैं पंजाब सरकार और माननीय विधानसभाध्यक्ष से अनुरोध करता हूं कि पूर्व विधायक के रूप में मेरी जो भी पेंशन बनती है, कृपया उसका उपयोग पंजाब के लोगों के हितों के लिए किया जाए। इसे किसी भी स्थिति में मुझे नहीं भेजा जाए। इस संबंध में औपचारिक अनुरोध लिखित में अलग से भेजा जा रहा है - प्रकाश एस बादल, पूर्व मुख्यमंत्री।’’  बादल (94) 11 बार विधायक रह चुके हैं और वह 1957 में मलोट सीट से पहली बार चुनाव जीते थे। 

चुनावी राजनीति में सोशल मीडिया कंपनियों के ‘सुनियोजित दखल’ पर लगे विराम : सोनिया गांधी

comments

.
.
.
.
.