Sunday, May 22, 2022
-->
big blow to congress in uttarakhand: former president kishor upadhyay joins bjp

उत्तराखंड में कांग्रेस को बड़ा झटकाः पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय BJP  में शामिल

  • Updated on 1/27/2022

नई टिहरी/ ब्यूरो। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व टिहरी से 2 बार विधायक रहे वरिष्ठ नेता किशोर उपाध्याय ने आखिरकार भाजपा का दामन थाम लिया है। करीब 45 साल से कांग्रेस में रहे किशोर गांधी परिवार के सबसे निकटतम नेताओं में से एक थे। उपाध्याय को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में बृहस्पतिवार को कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया था।

भाजपा के चुनाव प्रभारी और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी तथा अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में उपाध्याय ने यहां पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। भाजपा ने अभी तक टिहरी विधानसभा सीट पर प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है और अटकलें लगाई जा रही हैं कि सत्तारूढ़ पार्टी उपाध्याय को टिहरी से चुनावी समर में उतार सकती है।   

किशोर लंबे समय से कांग्रेस से नाराज चल रहे थे। वह वनाधिकार आंदोलन को लेकर पार्टी पर दबाव बना रहे थे। लेकिन पूर्व सीएम हरीश रावत इस मुद्दे पर उनसे सहमत नही थे। जिसके बाद उनकी भाजपा से नजदीकियां चल रही थी। किशोर उत्तराखंड राज्य आंदोलन से भी प्रमुख रूप से जुड़े रहे।

2002 के पहले विधानसभा चुनाव में टिहरी सीट से पहली बार चुनाव जीते थे। एनडी तिवारी सरकार में राज्य मंत्री बने।  2007 में फिर वह इसी सीट से विधायक बने। लेकिन 2012 में टिहरी सीट से चुनाव हार गए। 2014 में कांग्रेस ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाया।

हाल ही में उपाध्याय को कांग्रेस के सभी पदों से हटा दिया गया था। उपाध्याय कुछ सप्ताह पहले तक उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए बनी कांग्रेस समन्वय समिति के प्रमुख की भूमिका निभा रहे थे और वह राज्य कांग्रेस कोर कमेटी तथा उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य थे। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए राज्य की सभी 70 सीटों पर 14 फरवरी को मतदान होगा। मतगणना 10 मार्च को होगी।

राजनीतिक सफरनामा

उत्तराखंड आंदोलन में अहम भूमिका निभाई। उत्तराखंड संघर्ष समिति के पदाधिकारियों में शामिल रहे।
-गांधी परिवार के सबसे निकटतम राजनेता। अमेठी उत्तर प्रदेश में राजीव गांधी को चुनाव लड़ाने में अहम भूमिका।

-2002 में पहली बार टिहरी सीट से विधायक चुने गए। एनडी तिवारी सरकार में औधोगिक राज्य मंत्री बने।

-2007 में लगातार दूसरी बार टिहरी से विधायक चुने गए।
2012 के विधानसभा चुनाव में टिहरी सीट पर निर्दलीय दिनेश धनै से 377 मामूली मतों से चुनाव हार गए।

-2017 के विधानसभा चुनाव में देहरादून जिले की सहसपुर सीट से अपनी किस्मत आजमाई लेकिन फिर से हार गए। भाजपा के सहदेव सिंह पुंडीर ने हराया।

-2014 में किशोर उपाध्याय उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष बनाया गए। 2017 तक इस पद पर बने रहे।

परिचय 

किशोर उपाध्याय
पिता का नाम- स्व. पीताम्बर दत्त उपाध्याय

माता का नाम- एकादशी देवी

जन्म तिथि- 01 जून 1958
जन्म स्थान- ग्राम पाली, जाखणीधार, टिहरी गढ़वाल

शिक्षा- पीएचडी

व्यवसाय- कृषि, पेंशन, पूर्व विधायक और उत्तराखंड आंदोलनकारी।

पत्नी का नाम- सुमन कुकरेती उपाध्याय

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.