Sunday, Apr 18, 2021
-->
big conspiracy failed in bhutan a conspiracy was being hatched for the coup pragnt

भूटान में नाकाम हुई बड़ी साजिश! तख्तापलट करने के लिए रचा जा रहा था षड्यंत्र

  • Updated on 2/19/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भूटान (Bhutan) में सरकार गिराने की साजिश को नाकाम करते हुए पुलिस ने वहां के सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के सीनियर जज और सैन्य अधिकारी और जिला जज को हिरासत में ले लिया है। इन सभी लोगों पर आरोप है कि ये लोग भूटान के चीफ जस्टिस, सेना प्रमुख और वरिष्ठ कानून अधिकारी को पद से हटाकर भूटान में तख्तापलट करना चाह रहे थे।

एक भूटानी अखबार के मुताबिक भूटान पुलिस ने बुधवार को पूर्व सैन्य अधिकारी  पूर्व रॉयल गार्ड कमांडर ब्रिगेडियर थिनले टोबेगी और येशी दोरजी (सहयोगी जज) को सुप्रीम कोर्ट के सीनिर जज कुएनले के साथ गिरफ्तार किया है। 

रंजन गोगोई पर आरोप संबंधी ‘षड्यंत्र’ की सुप्रीम कोर्ट के स्वत: संज्ञान पर शुरू की गई जांच बंद

बॉम्बे विश्वविद्यालय से पढ़े हैं कुएनले 
आपको बता दें कि हाल ही में एक बार बात करते हुए खुद जस्टिस कुएनले तर्शिंग ने बताया था कि उन्होंने अपनी पढ़ाई बॉम्बे विश्वविद्यालय से कानून की पढ़ाई की थी। इतना ही नहीं जब भारत में सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में जस्टिस एसए बोबडे ने शपथ ली थी उस वक्त जस्टिस तर्शिंग वहीं पर मौजूद थे।

छत्रपति शिवाजी जयंतीः जानें, मुगलों को घुटनों पर लाने वाले वीर नायक का कैसा था जीवन

ऐसे हुआ षड्यंत्र का खुलासा
एक रिपोर्ट में बताया गया कि भूटान में तख्तापलटने के षड्यंत्र का खुलासा के बारे में उस वक्त जानकारी मिली जब कुछ महीने पहले एक महिला को गिरफ्तार किया गया था। उस महिला ने इस  षड्यंत्रकारी रिश्ते के बारे में जानकारी दी कि ये तीनों मिलकर भूटान में तख्तापटले का षड्यंत्र रच रहे हैं। आपको बता दें कि ये तीनों मिलकरआरबीए के मुख्य परिचालन अधिकारी, सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और सर्वोच्च न्यायालय के अटॉर्नी जनरल या रजिस्ट्रार जनरल बनना चाहते थे।

छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती पर PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि, बोले- 'जय शिवाजी!'

अदालत ने जमानत देने से किया इंनकार
इन तीनों की गिरफ्तारी के बाद जब इन्हें कोर्ट में पेश किया गया तो कोर्ट ने उन्हें बेल देने से मना कर दिया। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के जज तर्शिंग और येशी दोरजी पर 11 आरोपों के साथ मुकदमा दर्ज किया गया था, और पूर्व रॉयल गार्ड कमांडर ब्रिगेडियर थिनले टोबेगी के खिलाफ पांच आरोप लगाए गए हैं।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.