Friday, Jul 01, 2022
-->
big-decision-was-made-after-ajit-dovals-tour-of-sri-lanka-djsgnt

अजित डोभाल के श्रीलंका दौरे के बाद हुआ ये बड़ा फैसला, जानें पूरी बात

  • Updated on 12/15/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मालदीव (Maldiv) में अब भारत से जुड़े अपराधियों को समन या जांच के लिए वारंट सक्षम कोर्ट के माध्यम से भेज सकती है। हालांकि ये प्रक्रिया गृह मंत्रालय के जरिये भारतीय कानून प्रवर्तन अब डायरेक्ट कार्यवाई कर सकती है। भारत और मालदीव के बीच सहायता संधि-एमलैट के तहत लिया गया फैसला मालदीव को भी जानकारी दे दी गई।

किसान आंदोलनः सिंघू बॉर्डर प्रदर्शन में शामिल हो सकती हैं दो हजार महिलाएं

मालदीव के रक्षा मंत्री से मिले डोभाल
गौरतलब है कि अजित डोभाल (Ajit Doval) ने हिंद महासागर के अहम द्वीपीय देश मालदीव की रक्षामंत्री मारिया दीदी के साथ द्विपक्षीय साझेदारी पर सौहार्द्रपूर्ण और विस्तृत चर्चा की। डोभाल ने कोलंबो (Colombo) में भारत (India), श्रीलंका और मालदीव के साथ हुई त्रिपक्षीय वार्ता के तहत दीदी से बातचीत की।

गुजरात में इंटर्न डॉक्टर अनिश्चिकालीन धरने पर, दिल्ली में एम्स स्टाफ ने भी खोला मोर्चा

उल्लेखनीय है कि भारत और मालदीव के साथ समुद्री सुरक्षा सहयोग पर श्रीलंका राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की चौथी वार्ता की मेजबानी कर रहा है। वर्ष 2014 में नयी दिल्ली में हुई बैठक के छह साल बाद तीनों देशों के बीच एनएसए स्तर की वार्ता हो रही है।

श्रीलंकन राष्ट्रपति से भी हुआ था मुलाकात
इससे पहले अजित डोभाल ने शनिवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे से मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंधों में विविधता लाने तथा इसे और आगे बढ़ाने के तरीकों को लेकर उनके साथ 'सार्थक' बातचीत की। डोभाल भारत, श्रीलंका और मालदीव के बीच त्रिपक्षीय समुद्री वार्ता के लिए शुक्रवार को यहां पहुंचे।

किसान आंदोलन के बीच कांग्रेस बोली- बातचीत से हल निकाले मोदी सरकार

उन्होंने शनिवार को श्रीलंका के रक्षा सचिव मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) कमल गुनारत्ने और मालदीव की रक्षा मंत्री मारिया दीदी के साथ हुई बैठक में हिस्सा लिया। यह बैठक छह साल बाद हुयी है। भारतीय उच्चायोग ने यहां एक ट्वीट में कहा कि एनएसए अजित डोभाल ने राष्ट्रपति राजपक्षे से मुलाकात की और सार्थक चर्चा की। डोभाल ने उम्मीद जतायी कि भारत-श्रीलंका द्विपक्षीय संबंध प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति राजपक्षे के मजबूत नेतृत्व में और प्रगाढ़ होंगे।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.