Tuesday, Jan 18, 2022
-->
big relief to aryan khan from high court nawab malik demands action against wankhede rkdsnt

आर्यन खान को हाई कोर्ट से बड़ी राहत, नवाब मलिक ने की वानखेड़े के खिलाफ कार्रवाई की मांग

  • Updated on 11/21/2021


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने शनिवार को कहा कि आर्यन खान की जमानत याचिका पर बम्बई उच्च न्यायालय के विस्तृत आदेश ने उनके इस दावे की पुष्टि की कि खान और अन्य के खिलाफ मादक पदार्थ का मामला फर्जी था। मलिक ने कहा कि स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े को अदालत के निष्कर्षों के बाद निलंबित कर दिया जाना चाहिए। 

हाई कोर्ट का निर्देश - धनबाद के जज की हत्या मामले में मकसद का पता लगाए CBI 

मलिक तब से वानखेड़े पर निशाना साध रहे हैं, जब एनसीबी अधिकारी ने दो अक्टूबर को मुंबई तट के पास एक क्रूज पर छापेमारी की थी, जिस दौरान मादक पदार्थ कथित रूप से जब्त किए गए थे और बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था। आर्यन को 28 अक्टूबर को जमानत मिली थी, जबकि विस्तृत आदेश शनिवार को उपलब्ध हुआ। 

नरेंद्र गिरि मौत मामला: CBI ने आनंद गिरि, दो अन्य के खिलाफ दाखिल किया आरोप पत्र

मलिक ने एक बयान में कहा कि यह आदेश एनसीबी द्वारा आर्यन खान की गिरफ्तारी पर सवालिया निशान लगाता है। उन्होंने अपने इस आरोप को भी दोहराया कि जबरन वसूली के लिए आर्यन का अपहरण किया गया था। मंत्री ने आरोप लगाया कि वानखेड़े ने तब उच्च न्यायालय का रुख किया था, जब अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को निचली अदालत ने पिछले साल कथित मादक पदार्थ मामले में जमानत दी थी और एनसीबी अधिकारी आर्यन के मामले में अब उच्चतम न्यायालय का रुख करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘सार्वजनिक धन की इस तरह की बर्बादी बंद होनी चाहिए।’’ 

MTNL, BSNL की करीब 970 करोड़ रुपये की संपत्तियां बेचेगी मोदी सरकार

संपर्क किये जाने पर समीर वानखेड़े ने कहा कि वह उच्च न्यायालय के आदेश पर टिप्पणी नहीं कर सकते क्योंकि मामला विचाराधीन है। अधिकारी ने यह भी कहा कि वह मलिक के आरोपों को महत्व नहीं देना चाहते। आर्यन खान, उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट और फैशन मॉडल मुनमुन धमेचा की जमानत याचिकाओं पर जस्टिस एन डब्ल्यू सांब्रे के विस्तृत आदेश के अनुसार, आर्यन खान के मोबाइल फोन से लिए गए व्हाट्सऐप चैट से पता चलता है कि ऐसा कुछ आपत्तिजनक नहीं पाया गया, जो यह दिखाता हो कि उसने और अन्य आरोपियों ने कोई साजिश रची थी। 

कर्नाटक बिटकॉइन घोटाले के बीच स्वदेशी जागरण मंच ने सरकार से की कानून बनाने की मांग

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.