Monday, May 29, 2023
-->
bihar strong leader sharad yadav passed away, daughter wrote - ''''''''''''''''papa is no more''''''''''''''''

बिहार के कद्दावर नेता शरद यादव का निधन , बेटी ने लिखा - 'पापा नहीं रहे'

  • Updated on 1/12/2023

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बिहार की राजनीति में दमखम रखने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव नहीं रहे। 75 की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। वह लंबे समय से बिमार चल रहे थे। उनके निधन के खबर की पुष्टि उनकी बेटी शुभासिनी ने की है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, "पापा नहीं रहे।" शरद यादव के निधन पर राजनीतिक गलियारों में शोक की लहर फैल गई है। बता दें कि शरद यादव की पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल का 20 मार्च, 2022 को राष्ट्रीय जनता दल में विलय हुआ था। इससे पहले जदयू नेता और बिहार के सीएम नीतीश कुमार से अलग होने के बाद उन्होंने अपनी पार्टी बनाई थी।

झूठी बुनियाद पर इतिहास लिखने में माहिर है JNU : कुलपति शांतिश्री धुलिपुडी पंडित 

  •  

जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का बृहस्पतिवार को गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में निधन हुआ। उनके परिवार के लोगों ने यह जानकारी दी। उनके परिवार में उनकी पत्नी, एक पुत्री और एक पुत्र हैं। 

केंद्र-दिल्ली सेवा विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने निर्वाचित सरकार की जरुरत पर सवाल उठाया 

फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट के एक बयान में कहा गया है कि यादव को अचेत अवस्था में आपातकालीन वार्ड में लाया गया था। बयान में कहा गया है, ‘‘स्वास्थ्य जांच के दौरान, उनकी नाड़ी नहीं चल रही थी या रक्तचाप दर्ज नहीं किया गया... उपचार के सभी प्रयास नाकाम रहे। रात 10.19 बजे उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।'' 

बिहार के उप मुख्यमंत्री व राजद नेता तेजस्वी यादव ने शोक जताते हुए अपने ट्वीट में लिखा है, 'मंडल मसीहा, राजद के वरिष्ठ नेता, महान समाजवादी नेता मेरे अभिभावक आदरणीय शरद यादव जी के असामयिक निधन की खबर से मर्माहत हूँ। कुछ कह पाने में असमर्थ हूँ। माता जी और भाई शांतनु से वार्ता हुई। दुःख की इस घड़ी में संपूर्ण समाजवादी परिवार परिजनों के साथ है।'

जोशीमठ में भू-धंसाव: ‘असुरक्षित' घोषित होटल को ढहाना शुरू, विस्थापन का सिलसिला भी जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शरद यादव के निधन पर अफसोस जाहिर किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, " शरद यादव के निधन से बेहद दुख हुआ। अपने लंबे सार्वजनिक जीवन में उन्होंने खुद को सांसद, मंत्री के रूप में प्रतिष्ठित किया। वे डॉ. लोहिया के आदर्शों से बेहद प्रभावित थे। मैं हमारी बातचीत को हमेशा संजो कर रखूंगा। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदनाएं। ओम शांति!"
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.