Friday, Apr 10, 2020
bihar workers reach laksar on foot from badrinath economic crisis arises due to lockdown

Uttarakhand: बदरीनाथ से पैदल लक्सर पहुंचे बिहार के मजदूर, लॉकडाउन के चलते खड़ा हो गया आर्थिक संकट

  • Updated on 3/26/2020

हरिद्वार, ब्यूरो: लॉकडाउन के चलते दूरदराज से उत्तराखंड आए मजदूरों के समक्ष आर्थिक संकट पैदा हो गया है। ऐसे ही बदरीनाथ मंदिर में काम कर रहे बिहार के छह मजदूरों ने लॉकडाउन के चलते घर वापसी का निर्णय लिया। कोई भी साधन उपलब्ध नहीं होने के बावजूद सभी मजदूर पैदल ही निकल पड़े। काफी दूरी तय करने के बाद उन्हें एक तेल टैंकर से लिफ्ट मिली। टैंकर ने उन्हें ऋषिकेश में छोड़ दिया। वहां से भी उनकी मंजिल काफी दूर थी। उन्होंने एक बार बिहार तक जाने के लिए पैदल जाने का निश्चय किया।

रेलवे ट्रैक पर पैदल चलते-चलते वे रुड़की पहुंच गए। रेलवे ट्रैक से होकर आ रहे मजदूरों को देखकर जीआरपी के सिपाहियों ने उन्हें रोक लिया। उनसे जानकारी के बाद जीआरपी के उच्च अधिकारियों को इसकी जानकारी दी गई। इसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सकों ने उनका मेडिकल परीक्षण किया। मेडिकल परीक्षण के बाद इन लोगों को नगरपालिका के रैनबसेरे में रखा गया है।

इनके खाने पीने की व्यवस्था प्रशासन ने की है। उन मजदूरों का दर्द उनकी आंखों में साफ नजर आ रहा था। उनका कहना था कि जब काम ही नहीं रहा, तो हम लोगों के बदरीनाथ में रुकने का क्या औचित्य? हम लोग अपने घर पहुंच जाएंगे, तो कम से कम खाने-पीने और अन्य खर्चे तो कम हो जाएंगे।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

क्या अखबार पढ़ने से हो सकता है कोरोना का संक्रमण? जानिए क्या कहता है WHO

क्या है कोरोना वायरस? जानें, बीमारी के कारण, लक्षण व समाधान

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास 

coronavirus: 5 दिन में दिखे ये लक्षण तो जरूर कराएं जांच 

यदि आपका है यह Blood Group तो जल्द हो सकते हैं कोरोना वायरस के शिकार 

कोरोना वायरस: जिम बंद हुए हैं एक्सरसाइज नहीं, 'वर्क फ्रॉम होम' की जगह करें 'वर्कआऊट फ्रॉम होम' 

Coronavirus को रखना है दूर तो डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें 

कोरोना वायरस : मास्क के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानियां, ऐसे करें यूज 

कोरोना वायरस से जुड़े ये हैं कुछ खास मिथक और उनके जवाब 

मिल गया Coronavirus का इलाज! जल्द ठीक हो सकेंगे सभी संक्रमित 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.