Tuesday, Aug 03, 2021
-->
bird-flu-in-rajasthan-115-birds-died-in-one-day-pragnt

राजस्थान में बर्ड फ्लू का कहर, एक दिन में 115 पक्षियों की मौत

  • Updated on 1/30/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मामले कम हुए तो अब बर्ड फ्लू (Bird Flu) का कहर तेजी से बढ़ने लगा है। राजस्थान (Rajasthan) में आए दिन बर्ड फ्लू से पक्षियों की मौत की खबर सामने आ रही है। यहां एक दिन में 115 पक्षियों की मौत हुई है। जिसके बाद राजस्थान सरकार के लिए चिंता बढ़ गई है। 

वाराणसी में बोटिंग के दौरान ये काम करके फंस गए धवन, आप मत करिएगा आप यह गलती...

एक दिन में 115 पक्षी मरे
राजस्थान में शुक्रवार को 115 और पक्षियों की मौत हो जाने से राज्य में पिछले लगभग एक महीने में अब तक कुल 7,146 पक्षियों की संदिग्ध मौत हो चुकी है। वहीं, राज्य के 17 जिले बर्ड फ्लू संक्रमण से प्रभावित हैं। पशुपालन विभाग के अनुसार 27 जिलों के 272 नमूनों में से 67 नमूनों की जांच में संक्रमण पाया गया है।

विभाग की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को 53 कौए, तीन मोर, 53 कबूतर और छह अन्य पक्षियों की मौत हो गई। बर्ड फ्लू का प्रकोप सामने आने क बाद राज्य में 25 दिसंबर से अब तक 7,146 पक्षियों की मौत हो चुकी है। इनमें 4955 कौए, 427 मोर, 666 कबूतर और 1098 अन्य पक्षी शामिल हैं। 

दिल्ली के चिड़ियाघर में मृत मिले उल्लू के बर्डफ्लू होने की पुष्टि

गुरुवार को 94 और पक्षियों की मौत
इससे पहले गुरुवार को राज्य में 94 और पक्षियों की मौत हो जाने से राज्य में बीते लगभग एक महीने में कुल 7,031 पक्षियों की संदिग्ध मौत हो चुकी है। वहीं राज्य के 17 जिले बर्ड फ्लू संक्रमण से प्रभावित हैं। पशुपालन विभाग के अनुसार, 27 जिलों के 272 नमूनों में से 67 नमूनों की जांच में संक्रमण पाया गया है। पशुपालन विभाग की रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को 49 कौवे, 11 मोर, 20 कबूतर व 14 अन्य पक्षियों की मौत हो गई। बर्ड फ्लू का प्रकोप सामने आने के बाद राज्य में 25 दिसम्बर से अब तक 7,031 पक्षियों की मौत हो चुकी है। इनमें 4902 कौवे, 424 मोर, 613 कबूतर तथा 1092 अन्य पक्षी शामिल हैं।

गाजीपुर मंडी में धड़ाधड़ बिकने  शुरू हुए मुर्गे, थोक खरीदारों का लगा तांता

देश के ये दस राज्य फ्लू की चपेट में
भारत में  उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), केरल (Kerala), राजस्थान (Rajasthan), मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh), हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh), हरियाणा (Haryana) गुजरात (Gujarat) महाराष्ट्र, दिल्ली और उत्तराखंड (रिपोर्ट का इंतजार है) में बर्ड फ्लू के पहुंचने की पुष्टि हो गई है।

केंद्र ने कहा था ये
बता दें कि केंद्र ने राज्यों से मुर्गा मंडियों को बंद नहीं करने अथवा कुक्कुट (पॉल्ट्री) उत्पादों की बिक्री प्रतिबंधित नहीं करने को कहा क्योंकि मानव में बर्ड फ्लू संचरण की कोई वैज्ञानिक रिपोर्ट सामने नहीं आई है। हालांकि, देश के 10 राज्यों में बर्ड फ्लू के प्रकोप की पुष्टि हो चुकी है। पशुपालन एवं डेयरी विभाग ने एक बयान में कहा था कि 11 जनवरी 2021 तक देश के 10 राज्यों में एवियन इन्फ्लूएंजा की पुष्टि हो चुकी है।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आए उछाल के बीच गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, घटाया 2% वैट

साफ-सफाई का रखें विशेष ध्यान 

  • छत पर रखी टंकियों, रेलिंग या पिजरों को डिटर्जेंट या मेडिकेटेड मिश्रण से साफ करें।
  • पक्षियों के मल करने वाले स्थान या उनसे संबंधित जगह पर फैले कचरे और गंदगी को सावधानी पूर्वक साफ करें। 
  • पक्षियों को खुले हाथों से न पकड़ें, उनसे निश्चित दूरी बनाकर रखें। 
  • एक संक्रमित पक्षी करीब 10 दिनों तक मल या लार के जरिए वायरस का प्रसार कर सकता है। इसलिए नियमित सफाई बेहद जरूरी है। 

चिकित्सकों के लिए चुनौती
कोरोना के संकट की तरह अब पशु-पक्षियों के चिकित्कसकों को बर्ड फ्लू से लड़ना होगा। पक्षियों के स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ. रामेश्वर यादव के मुताबिक चुनौती तो है पर पूरी होशियारी के साथ और सावधानी बरतते हुए काम किया जाएगा। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.