Saturday, Jul 20, 2019

HBD Mahi- जब बाल कटवाने की नसीहत पर धोनी का जवाब सुन हैरान रह गया था ये सीनियर खिलाड़ी

  • Updated on 7/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। माही- भारतीय क्रिकेट में एक ऐसा नाम जिसे पूरी दुनिया महेंद्र सिंह धोनी के नाम से जानती है। धोनी क्रिकेट की दुनिया में एक ऐसा नाम बन चुका है जिसके बारे में जितनी चर्चा की जाए उतना ही कम है। आज महेंद्र सिंह धोनी का जन्मदिन है और आज माही 38 साल के हो गए हैं। जिस तरह हर किसी का जीवन उतार चढ़ाव से भरा रहता है, वैसे ही अब तक माही के जीवन में भी कई बार उतार चढ़ाव आए हैं। लेकिन माही ने भारतीय क्रिकेट का नाम हर मौके पर ऊंचा ही किया है।

धोनी ने ऐसे बहुत से कारनामे किए हैं जिनकी बदौलत भारतीय टीम ने हर वो मुकाम हासिल किया जो किसी भी टीम के लिए एक सपना होता है। आज धोनी के जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनके क्रिकेट करियर से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से बताने जा रहे हैं-

भारतीय टीम में धोनी कैसे बने थे सितारे-
महेंद्र सिंह धोनी का क्रिकेट में डेब्यू साल 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ हुआ था। धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ खेले हुए तीन मैचों में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। अपने डेब्यू मैच में वो बिना खाता खोले रन आउट हो गए थे। लोअर बैटिंग ऑर्डर में बल्लेबाजी का मौका मिलने के कारण वो अगले दोनों मैचों में ज्यादा बल्लेबाजी नहीं कर पाए। इसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ हुई वनडे सीरीज के पहले मैच में भी धोनी को टीम में शामिल किया गया लेकिन उन्हें दोबारा लोअर बैटिंग ऑर्डर में खेलना पड़ा। इस कारण एक बार फिर वो ज्यादा देर बल्लेबाजी नहीं कर पाए थे।

उस सयम भारतीय टीम के कप्तान सौरव गांगुली थे। गांगुली ने धोनी को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने का फैसला किया और ये फैसला भारतीय टीम और धोनी को बहुत रास आया। भारतीय टीम में उस वक्त तीसरे नंबर पर गांगुली बल्लेबाजी किया करते थे। एक अच्छा कप्तान होने के नाते गांगुली ने अपने बल्लेबाजी क्रम को त्याग कर तीसरा नंबर धोनी को सौंप दिया। इस मौके को धोनी ने बखूबी भुनाया और 123 गेंदों में 148 रनों की शानदार पारी खेल कर भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की कर ली।

जब आकाश चोपड़ा ने धोनी को बाल कटाने की दी थी नसीहत-
करियर के शुरुआती दिनों में धोनी का उनके बालों को लेकर स्टाइल देखने लायक था। वहीं भारत के पूर्व साथी खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने उन्हें बाल कटवाने के लिए कहा था। इस पर धोनी ने एक ऐसा जवाब दिया जिसे आगे चल कर दुनिया ने सच कर दिया।

आकाश ने कहा कि 'ये स्टाइल विस्टाइल छोड़ दो। देश की क्रिकेट टीम में कोई इन जुल्फों के साथ नहीं खेलता।' इस पर धोनी ने बड़ी सादगी से जवाब देते हुए कहा, 'आकाश भाई, क्या पता आने वाले समय में ये भारत का स्टाइल बन जाए।'

आने वाले सालों में कुछ ऐसा ही हुआ। 2007 वर्ल्ड टी-20 जीतने के बाद भारत के ज्यादातर युवाओं ने धोनी के स्टाइल को अपना स्टाइल बना लिया था।

भारतीय टीम के कप्तान 'कोहली' हैं लेकिन उनके कप्तान 'धोनी' हैं-
भारतीय क्रिकेट में 5 जनवरी 2017, एक ऐसा दिन था जब करोड़ों फैंस का दिल टूटा था। इस दिन माही ने भारतीय वनडे और टी-20 टीम की कप्तानी छोड़ी थी। अचानक से लिए इस फैसले ने सबको हैरान कर दिया था। वहीं धोनी के बाद टीम की कमान संभालने के लिए सबसे मजबूत दावेदारी रखने वाले विराट कोहली ने सबका दिल जीत लिया।

कोहली ने ट्वीट कर कहा, 'बहुत बहुत धन्यवाद हमारे लीडर होने के लिए, हर युवा खिलाड़ी आपके जैसे लीडर को अपने आस पास देखना चाहता है। आप हमेशा मेरे कप्तान रहेंगे।' 

इस दिन के बाद से अब तक धोनी-कोहली की जुगलबंदी हमने कई बार मैदान पर देखी है जिसकी बदौलत भारतीय टीम ने बहुत से खिताब अपने नाम किए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.