Wednesday, Apr 25, 2018

जन्मदिन विशेष: शब्दों से समाज की सुदंरता और कुरूपता बताने वाले शायर कैफ़ी आज़मी

  • Updated on 1/14/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अपने शायरी और गीतों से समाज को आइना दिखाने वाले शायर कैफ़ी आज़मी आज जिंदा होते तो अपना 99वां जन्मदिन मना रहे होते।कैफ़ी साहब वो शख्स थे जिनकी करनी और कथनी में कोई अतंर नहीं होता था। वो आजाद-ख्याल, जुनूनी और बराबरी पसंद शख्सियत थे। कैफ़ी साहब की एक ऩज्म है जिसका नाम मकान है इस ऩज्म की पंक्तियां कुछ यूं है-
आज की रात बहुत गर्म हवा चलती है 
आज की रात न फ़ुट-पाथ पे नींद आएगी 
सब उठो, मैं भी उठूँ तुम भी उठो, तुम भी उठो 
कोई खिड़की इसी दीवार में खुल जाएगी

 कैफ़ी साहब बेसहारा और सड़क वालों के लिए लिखा और बराबरी पसंद इस शख्सियत ने कभी मकान नहीं खरीदा हमेशा किराए के मकान में ही अपना गुजारा किया।कहते हैं कि कैफ़ी की कलम ही उनकी पूंजी थी। कैफी का असली नाम सैयद सैयद अतहर हुसैन रिज़वी था।कैफी की पैदाइश आजमगढ़ जिले के मजवां गांव में हुई थी।

Navodayatimes

घर चलान के लिए शुरू किया लेखन
शुरू-शुरु में कैफ़ी जब मुशायरों में गजल पढ़ते तो लोगों को हजम नहीं होता उनको लगता कि वह खुद की नहीं बल्कि बड़े भाई की गजले सुनाते हैं।इस बात की पड़ताल के लिए उनके पिता ने  गाने की एक पंक्ति दी और गजल लिखने को कहा। कैफी आज़मी ने गजल लिखी- 'इतना तो जिंदगी में किसी की खलल पड़े, न हंसने से हो सुकून न रोने से कल पड़े।

1947 में एक मुशायरे में ही शौकत आज़मी से मुलाकात हुई। जल्द ही दोनों ने शादी कर ली। इस बीच उनकी पहली नज्म लखनऊ के ‘सरफराज’ में छपी। घर के खर्च के लिए अखबारों में लिखना शुरू कर दिया। लेकिन अपने घर के बढ़ते खर्चों को देख कैफी आज़मी ने फिल्मी गीत लिखने का फैसला किया।उन्होंने सबसे पहले शाहिद लतीफ की फिल्म 'बुजदिल' के लिए दो गीत लिखे। इसके बाद 1959 की 'कागज के फूल' के लिए लिखे गए 'वक्त ने किया क्या हसीं सितम, तुम रहे न तुम हम रहे न हम' लिखा।

Navodayatimes

पढ़िए उनकी कुछ बेहतरीन शेर-

बहार आए तो मेरा सलाम कह देना
मुझे तो आज तलब कर लिया है सहरा ने

 

बस्ती में अपनी हिन्दू मुसलमाँ जो बस गए
इंसाँ की शक्ल देखने को हम तरस गए

 

इंसाँ की ख़्वाहिशों की कोई इंतिहा नहीं
दो गज़ ज़मीं भी चाहिए दो गज़ कफ़न के बाद

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.