Saturday, Mar 25, 2023
-->
bjp amit shah tweet 5 years of skill india mission aatma nirbhar bharat pragnt

कौशल भारत अभियान को लेकर बोले अमित शाह, युवाओं में बढ़ी Entrepreneurship की भावना

  • Updated on 7/15/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि कौशल भारत अभियान (Skill India Mission) ने पिछले पांच वर्षों में युवाओं के बीच उद्यमिता की भावना बढ़ाने में एक बड़ी भूमिका निभाई है। शाह ने यह भी कहा कि कौशल भारत अभियान सही कौशल उपलब्ध करा कर, देश के युवाओं की आंतरिक क्षमता को बढ़ा कर उन्हें सशक्त कर रहा है।

प्रियंका गांधी का CM योगी पर तीखा हमला, कहा- क्या ऐसे ही कोरोना से लड़ रही है यूपी सरकार ?

स्किल इंडिया मुहिम के पांच साल पूरे
उन्होंने ट्वीट किया, 'पिछले पांच वर्षों में, कौशल भारत अभियान ने युवाओं के बीच उद्यमिता की भावना को बढ़ाने में एक बड़ी भूमिका निभाई है। इसने नौकरी चाहने वालों को नौकरी देने वाला बनने के लिए प्रोत्साहित किया है। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के दृष्टिकोण को साकार करने में काफी मददगार साबित होगा।' गृह मंत्री ने विश्व युवा कौशल दिवस पर सभी को अपनी शुभकामनाएं भी दीं।

World Youth Skills Day पर बोले PM मोदी- ‘प्रांसगिक रहने का मंत्र है स्किल

युवाओं को PM मोदी का संदेश
इससे पहले, कौशल भारत अभियान के पांच वर्ष पूरे होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने एक डिजिटल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के समय में प्रासंगिक बने रहने का मंत्र है, 'कौशल प्रदान करें, पुनर्कौशल प्रदान करें और कौशल बढ़ाएं।'

सचिन पायलट पर भड़के गहलोत, बोले- 'केवल अच्छी अंग्रेजी बोलने से कुछ नहीं होता कमिटमेंट भी चाहिए'

कौशल आपको दूसरों से अलग बनाता है- PM
पीएम मोदी ने कहा कि कौशल शाश्वत है और यह समय के साथ-साथ बेहतर होता चला जाता है और आपको दूसरों से बेहतर बनाता है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि आज की तेजी से बदलती दुनिया में लाखों की संख्या में कौशल प्राप्त लोगों की जरूरत है और विशेष रूप से स्वास्थ्य सेवाओं में इसकी काफी संभावना है।

J&K: BJP नेता मेहराजउद्दीन मल्ला का अपहरण, तलाशी अभियान जारी

कोई भी मौका जाने ना दे
प्रधानमंत्री ने कहा कि एक सफल व्यक्ति की बहुत बड़ी निशानी होती है कि वह अपने कौशल को बढ़ाने का कोई भी मौका जाने ना दे और नया मौका ढूंढता रहे। उन्होंने कहा, ‘कौशल के प्रति अगर आप में आकर्षण नहीं है, कुछ नया सीखने की ललक नहीं है तो जीवन ठहर जाता है। एक रुकावट आ जाती है। एक प्रकार से वह व्यक्ति अपने व्यक्तित्व को बोझ बना देता है। खुद के लिए ही नहीं अपने स्वजनों के लिए भी बोझ बन जाता है।’

उन्होंने कहा कि कौशल के प्रति आकर्षण जीने की ताकत देता है, जीने का उत्साह देता है। उन्होंने कहा, ‘यह सिर्फ रोजी-रोटी और पैसे कमाने का जरिया नहीं है। जीने के लिए कौशल हमारी प्रेरणा बनता है। यह हमें ऊर्जा देने का काम करती है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.